पहले वैदिक मंत्रोच्चार फिर आरती, कुछ यूं शुरू हुआ राजगीर में ‘हर घर गंगाजल’, नीतीश ने भी नल से पिया पवित्र पानी

0
116

पहले वैदिक मंत्रोच्चार फिर आरती, कुछ यूं शुरू हुआ राजगीर में ‘हर घर गंगाजल’, नीतीश ने भी नल से पिया पवित्र पानी

पटना : ‘हर घर गंगाजल’ योजना के लोकार्पण के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों के घरों तक नल में पहुंचे गंगा के इसी पानी को पिया, ताकि लोगों को किसी तरह का संशय ना रहे। जानकारी के मुताबिक, हर घर गंगाजल योजना के तहत राजगीर के 19 वार्डों के करीब 8031 घरों में पेयजल के लिए गंगाजल की आपूर्ति की जाएगी।

गंगाजल की पूजा-अर्चना कर योजना का लोकार्पण

अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के साकार करने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गंगा की पूजा-अर्चना कर योजना का लोकार्पण किया। इस मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि इस योजना से ना सिर्फ पानी की समस्या दूर होगी, बल्कि भूजल स्तर भी बढ़ेगा। इससे पूरे क्षेत्र में पानी संकट से निजात मिलेगी। इसके अलावा होटल और स्टेडियम सहित अन्य संस्थानों में भी पानी की आपूर्ती की जा रही है।

प्रतिव्यक्ति प्रतिदिन 135 लीटर शुद्ध गंगाजल

-135-

प्रतिव्यक्ति प्रतिदिन 135 लीटर शुद्ध जल की आपूर्ति का लक्ष्य रखा गया है। खास बात ये है कि इस प्रोजेक्ट के लिए गंगा नदी से पानी लाने के लिए कुल 151 किलोमीटर लंबाई वाली पाइपलाइन बिछाई गई है। बिहार सरकार ने भविष्य में हर घर गंगाजल योजना के तहत 25 लाख लोगों को पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है। इसी के पहले चरण की शुरुआत रविवार को नालंदा जिले के राजगीर से की गई।

गंगाजल से 7.5 लाख लोगों की बुझेगी प्यास

-7-5-

दरअसल, गंगाजल आपूर्ति योजना चरणबद्ध तरीके से बिहार के नालंदा, गया और नवादा जिले में 7.5 लाख लोगों की प्यास बुझाने का काम करेगी। ये परियोजना अपने तरह की देश में पहला प्रोजेक्ट है, जो बिहार में शुरू की गई है। राजगीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे खुशी है कि राजगीर में गंगाजल की आपूर्ति शुरू हो गई है।

राजगीर के बाद गया फिर नवादा का नंबर

95811286 -

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार (28 नवंबर) को गया और बोधगया में भी इस परियोजना का लोकार्पण करेंगे। वहीं योजना के दूसरे चरण में जून 2023 तक नवादा जिले में भी हर घर गंगाजल पहुंचाने का लक्ष्य है। इस योजना के तहत गंगा नदी के बाढ़ के पानी को दक्षिण बिहार के जल संकट वाले शहरों में ले जाकर उसे शोधित कर पेयजल की समस्या को दूर किया जाएगा।

जलसंकट को देखते गंगाजल बनेगा रामबाण

95811289 -

जलसंकट को देखते गंगाजल आपूर्ति योजना रामबाण साबित होगा। गंगा जल से लोगों को जल की आपूर्ति की जाएगी तो जल की समस्या भी दूर हो जाएगी। भू-गर्भ का जलस्तर भी बरकरार रहेगा। जलवायु परिवर्तन के कारण नवादा, नालंदा, गया जिले में लगातार जलस्तर में गिरावट आ रही है। सुखाड़ और बाढ़ की त्रासदी का दंश भी झेलना पड़ता था।

जल-जीवन-हरियाली अभियान का हिस्सा

95811291 -

सीएम नीतीश के मुताबिक वर्ष 2019 में शुरू किए गए जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत राजगीर, गया, बोधगया और नवादा में गंगाजल की आपूर्ति सुनिश्चित की जानी है। राजगीर में गंगाजल आपूर्ति योजना की शुरुआत की गई। उन्होंने कहा कि पटना और अन्य शहरों में भी इस योजना को लागू किया जाएगा।

इनपुट- नालंदा से प्रणय राज

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News