पहले पति ने छोड़ा, दूसरे की मौत, तीसरे को मार दिया… आफताब स्टाइल में नए मर्डर केस की एक-एक डीटेल जान लीजिए

0
129

पहले पति ने छोड़ा, दूसरे की मौत, तीसरे को मार दिया… आफताब स्टाइल में नए मर्डर केस की एक-एक डीटेल जान लीजिए

नई दिल्‍ली: राजधानी आज सन्‍न थी। श्रद्धा मर्डर केस के बाद एक और रोंगटे खड़े कर देने वाली हत्‍या। शव के टुकड़े। तार-तार होते रिश्‍ते। मामला पूर्वी दिल्‍ली का है। पांडव नगर में पति की हत्या और उसके शव के 22 टुकड़े करने के आरोप में एक महिला गिरफ्तार हुई। साथ में बेटे को भी गिरफ्तार किया गया है। महिला का नाम पूनम और बेटे का दीपक। जिस शख्‍स की हत्‍या हुई उसका नाम था अंजन दास। हत्‍यारों ने अंजन के शव के टुकड़े फ्रिज में रखे। फिर उन्‍हें पूर्वी दिल्‍ली में अलग-अलग जगहों पर ठिकाने लगा दिया। ठीक आफताब स्‍टाइल में। यहां सवाल कई थे। पूनम ने अपने पति की हत्‍या क्‍यों की? हत्‍या में बेटे दीपक ने क्‍यों साथ दिया? रिश्‍तों में क्‍या घालमेल था? पूनम और दीपक कौन हैं? यहां आपको इनमें से हर एक सवाल का जवाब मिलेगा।

कौन हैं पूनम और दीपक?
अंजन दास पूनम का तीसरा पति था। इसके पहले उसकी जिंदगी में दो और आदमी आए थे। पहले का नाम था सुखदेव तिवारी। इसे पूनम ने छोड़ दिया था। फिर उसकी जिंदगी में कल्‍लू नाम का शख्‍स आया। 2016 में कल्‍लू की मौत हो गई थी। दीपक कल्‍लू का ही बेटा है। यानी अंजन दास दीपक का सौतेला पिता था। कल्‍लू से पूनम को एक बेटी भी है। कल्‍लू के गुजरने के बाद 2017 में अंजन दास से पूनम की शादी हुई। यह शादी बिहार में हुई थी। पूनम के और 8 बच्‍चे हैं। अंजन कुछ कमाता-धमाता नहीं था। इसके चलते पूनम का आए दिन उससे झगड़ा होता था।

रोज फ्रिज से लाश का एक टुकड़ा निकालते थे मां-बेटा… पांडव नगर में श्रद्धा जैसे मर्डर केस की पूरी कहानी

पूनम ने अपने पति की हत्‍या क्‍यों की?
पहले ही आए दिन के झगड़ों से पूनम अंजन दास से ऊबी हुई थी। फिर अंजन दास के अवैध संबंधों का उसे पता लगा। पूनम को शक था कि दास की उसकी सौतेली बेटी और सौतेले बेटे की पत्नी पर बुरी नजर थी। मां-बेटे अंजन से तंग आ हुए थे। अंजन उनसे पैसे छीन लेता था।

कैसे रची साजिश?
अंजन दास शराबी था। पूनम और दीपक ने प्‍लान किया कि वे शराब में ही नशे की गोलियां मिला देंगे। फिर उसे मारकर उसके शव अलग-अलग टुकड़ों को ठिकाने लगा देंगे। मंशा यह थी कि किसी को पता ही न लगे कि अंजन दास कौन था।

navbharat times -Trilokpuri Murder: अंजन दास के हत्यारे तक कैसे पहुंची, दिल्ली पुलिस ने सुनाई पूरी कहानी

पुलिस के पास अब तक क्‍या है?
पुलिस स्‍पेशल सीपी क्राइम रवींद्र यादव ने बताया है कि पुलिस के पास अभी अंजन दास के छह बॉडी पार्ट हैं। बाकी वह इंवेस्टिगेशन में पता लगाने की कोशिश कर रही है। आरोपियों का कहना है कि इन्‍होंने 8-10 टुकड़े किए। पैरे के दो टुकड़े कर दिए। धड़ के टुकड़े कर दिए। हाथ के टुकड़े कर दिए। खोपड़ी अलग कर दी। इन्‍हें अलग-अलग पॉलीथीन बैग में डालकर ये इन टुकड़ों को ठिकाने लगाना चाहते थे।

शव को अपने पास क्‍यों एक दिन के लिए रखा?
पूनम और दीपक ने शव को एक दिन के लिए अपने पास रखा। जब शव सूख गया तब उसके टुकड़े किए। उन्‍हें पता था कि तुरंत ही वो टुकड़े करेंगे तो खून रिसेगा। इससे शव के टुकड़ों को बाहर ले जा पाना मुश्किल हो जाएगा। शव सूखने के बाद ही उन्‍होंने उसे काटा। यह प्र‍िकॉशन उन्‍होंने खास तौर से इसलिए लिया ताकि खून के धब्‍बे कहीं बाहर न रहें।

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News