पटना : ‘2023 में डायरेक्ट जिहाद, खिलाफत का ऐलान हम इंडियन मुस्लिम करेंगे’, गजवा-ए-हिंद के वाट्सऐप ग्रुप चैट में छिपी साजिश

0
104

पटना : ‘2023 में डायरेक्ट जिहाद, खिलाफत का ऐलान हम इंडियन मुस्लिम करेंगे’, गजवा-ए-हिंद के वाट्सऐप ग्रुप चैट में छिपी साजिश

Gazwa E Hind Group: बिहार की राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ में राष्ट्र विरोधी पीएफआई से जुडे संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद अब जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। इसके तार अब पाकिस्तान सहित अन्य देशों से भी जुड़ता जा रहा है। पुलिस के हाथ गजवा-ए-हिंद का वाट्सऐप ग्रुप चैट लगा है। जिसमें काफी खतरनाक मंसूबे जाहिए किए गए हैं।

 

हाइलाइट्स

  • गजवा-ए-हिंद का वाट्सऐप ग्रुप चैट लगा पुलिस के हाथ
  • संगठन का सोशल मीडिया प्रमुख मर्गुव अहमद रिमांड पर
  • वाट्सऐप ग्रुप चैट में लिखा 2023 में जिहाद करने की बात
  • लिखा- ‘कोई फायदा नहीं है AIMIM को सपोर्ट करने की’
पटना : आतंक के फुलवारीशरीफ मॉड्यूल से जुड़े बेहद खतरनाक और चौंकानेवाले खुलासे हो रहे हैं। गजवा-ए-हिंद वाट्सऐप ग्रुप के चैट ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। इस ग्रुप में इलियास पटेल नाम का शख्स लिखता है कि ‘कोई फायदा नहीं है AIMIM को सपोर्ट करने की। अब डायरेक्ट जिहाद करेंगे 2023 में। खिलाफत का ऐलान हम इंडियन मुस्लिम करेंगे।’ इस मामले की बड़ी सिक्योरिटी एजेंसियां जांच कर रही है। गजवा-ए-हिंद का सोशल मीडिया प्रमुख मर्गुव अहमद दानिश उर्फ ताहिर को गिरफ्तार किया गया था, पुलिस ने उसे दो दिनों की रिमांड पर लिया है।

‘डायरेक्ट जिहाद करेंगे 2023 में’
गजवा-ए-हिंद का वाट्सऐप ग्रुप चैट पुलिस के हाथ लगे हैं। इसमें कई लोग जुड़े हुए हैं। इस ग्रुप में देश विरोधी चैट किया गया है। इस बात की प्लानिंग दिख रही है कि 2023 में डायरेक्ट जिहाद किया जाए। इसमें साफ-साफ लिखा हुआ है कि ‘कोई फायदा नहीं है AIMIM को सपोर्ट करने की। अब डायरेक्ट जिहाद करेंगे 2023 में। खिलाफत का ऐलान हम इंडियन मुस्लिम करेंगे।’ हालांकि इसमें इस बात का जिक्र नहीं है कि उसका तरीका क्या होगा? मगर इतना जरूर कहा गया है कि आगे से AIMIM को सपोर्ट नहीं करेंगे। ऐसे में क्या ये माना जाए कि AIMIM का सपोर्ट ये लोग इसलिए कर रहे थे कि देश में डायरेक्ट जिहाद की साजिश सफल हो सके? सिक्योरिटी एजेंसियां अब इसकी जांच कर रही है।

दो दिनों की रिमांड पर मर्गुव अहमद
गजवा-ए-हिंद का सोशल मीडिया प्रमुख मर्गुव अहमद दानिश उर्फ ताहिर फुलवारीशरीफ का रहनेवाला है। 2006-2020 तक वो दुबई में काम करता था। पटना एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो के मुताबिक उसका फोन नंबर इंटरसेप्ट किया गया, जिसमें राष्ट्रविरोधी कंटेंट पाया गया। फुलवारीशरीफ के एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि मर्गुव अहमद दानिश उर्फ ताहिर को रिमांड पर लेने की मांग की गई थी, कोर्ट ने हमें 48 घंटे की रिमांड दी। उसके नेटवर्क के बारे में पूछताछ की जाएगी, खासकर उन अंतरराष्ट्रीय लोगों के बारे में जो इसमें शामिल हो सकते हैं।

Copy

‘गजवा-ए-हिंद’ ग्रुप का प्लान डिकोड, पटना टू पाकिस्तान का इलियास ने ऑन कैमरा खोला राज

वाट्सऐप ग्रुप में कई विदेशियों के नंबर
फुलवारीशरीफ में ईसोपुर नहर के पास से मर्गुव अहमद दानिश उर्फ ताहिर को गिरफ्तार किया गया था। उसके पास मौजूद मोबाइल कंटेंट से ये साफ है कि राष्ट्र विरोधी काम तकनीकी के जरिए कर रहा था। फिलहाल फुलवारीशरीफ में रह रहा अहमद दानिश मूल रूप से गया जिला के बिथो शरीफ का रहने वाला है। इसके परिवार के कुछ लोग पाकिस्तान के कराची में भी बसे हुए हैं। 2016 से ये वाट्सऐप, ईमेल और फेसबुक के माध्यम से लोगों के संपर्क में था। एसएसपी के मुताबिक तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान से जुड़ा था। पाकिस्तान का फैजान नाम से कोई व्यक्ति इसके साथ नियमित संपर्क में था। पुलिस के मुताबिक ताहिर वाट्सऐप ग्रुप के माध्यम से गजवा-ए-हिन्द से जुड़ा है और इसका ग्रुप एडमिन भी है। फैजान भी इस ग्रुप का एडमिन है। कई सारे पाकिस्तानी नंबर इसके साथ जुड़े हुए हैं। इसका ग्रुप आइकन और मैसेज देश विरोधी, सम्प्रदाय विरोधी, भड़काऊ, आपत्तिजनक, गैरकानूनी और असंवैधानिक है। इसमें भारत पाकिस्तान और यमन के लोगों के मोबाइल नंबर नम्बर जुड़े हैं।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : ghazwa e hind whatsapp group chat written direct jihad in 2034 phulwarisharif terror module
Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News