पटना : साइकिल से लग्जरी कार तक, आवास बोर्ड की जमीन से मालामाल माफिया, देखिए FIR की पूरी लिस्ट

0
104

पटना : साइकिल से लग्जरी कार तक, आवास बोर्ड की जमीन से मालामाल माफिया, देखिए FIR की पूरी लिस्ट

पटना : ‘ऑपरेशन बुलडोजर’ अभी रूका नहीं है। राजीव नगर स्थित आवास बोर्ड की जमीन पर अवैध कब्जा मामले की जांच जारी है। जमीन की खरीद-बिक्री से करोड़पति बने 15 भू-माफिया के खिलाफ राजीव नगर थाने में गुरुवार को प्राथमिकी दर्ज की गई। जिला प्रशासन ने भू-माफिया की लिस्ट बनाकर आवास बोर्ड को सौंप दी थी। ये लिस्ट आमलोगों की दी गई सूचना और जांच करने के बाद बनाई गई। प्रशासन इस बार भू-माफिया पर कड़ी कार्रवाई करने के मूड में है। 15 और भू-माफिया पर राजीव नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई। दूसरी ओर ईओयू की विशेष टीम ने 31 भू-माफिया की संपत्ति की जांच शुरू कर दी है। इनको पकड़ने के लिए पटना में गुरुवार देर रात कई जगहों पर छापेमारी भी की गई।

करोड़पति बने 15 भू-माफिया पर FIR
1. दीपक दुबे
पिता- मुरारी मोहन दुबे, चंद्र विहार कॉलोनी, राजीव नगर, पटना
आरोप- नेपाली नगर में आवास बोर्ड की 10 बीघे से अधिक जमीन बेची दी, कई केस दर्ज।
2. कौशलेंद्र नारायण सिन्हा
पिता- जनार्दन सिन्हा, घुड़दौड़ रोड
आरोप- 100 से अधिक लोगों को जमीन बेच करोड़ों रुपए बनाए, कई केस दर्ज है।
3. विमल कुमार
पिता- रामपन्नी राय, नकटा दियरा, वर्तमान में एक्सटीटीआई, दीघा, पटना
आरोप- आवास बोर्ड की कई बीघा जमीन बेच कर करोड़ों कमाए, केस दर्ज।
4. राजेश झा
कंकड़बाग, शालीमार स्वीट्स के सामने, पटना
आरोप- कपूरचंद को-ऑपरेटिव नाम से समिति बनाई और नेपाली नगर और चंद्रविहार कॉलोनी में आवास बोर्ड की कई एकड़ जमीन बेच दिया। हाल के दिनों में जिन छह समितियों पर केस दर्ज हुआ है, उसमें ये भी शामिल है।
5. अश्विनी सिंह
पिता- बुद्धदेव सिंह, संगीता वैष्णव अपार्टमेंट एसके पुरी, पटना
आरोप- राजीव नगर के आवास बोर्ड के कई प्लॉट को बेच दिया और फायरिंग कर जमीन कब्जा करने का भी केस।
6. सर्वेश सिंह
पिता- प्रमोद सिंह, सपना अपार्टमेंट आशियाना नगर, पटना
आरोप- कंचनपुरी में कई प्लॉट बेचे। फायरिंग कर जमीन पर कब्जा कर मकान बनाने के आरोप में केस दर्ज है।
7. रामदयाल सिंह
पिता- शिव नारायण यादव, चंद्रविहार कॉलोनी, राजीव नगर, पटना
आरोप- आवास बोर्ड के तीन बीघे जमीन को बेच दिया। नेपाली नगर में जो 10 मकान तोड़े गए हैं, इसने ही बेचा था। पहले से भी केस दर्ज।
8. राजा सिंह
पिता- अरुण लाल सिंह, आरआर अपार्टमेंट, गांधीनगर, पाटलिपुत्र स्टेशन, पटना
आरोप- जमीन बेचना और फायरिंग कर जमीन पर कब्जा करने का आरोप है। पहले से भी केस दर्ज
9/10. विकास कुमार और मनोज कुमार
पिता- रामजन्म सिंह, राजीवनगर, रोड नंबर- 24, पटना
आरोप- नेपालीनगर में इन दोनों भाइयों ने कई प्लॉट बेचकर करोड़ों रुपए बनाए। पहले से भी केस दर्ज।
11. मनोज राय
पिता- जय राय, 90 फुट रोड, नेपाली नगर, राजीव नगर, पटना
आरोप- फर्जीवाड़ा कर कई प्लॉट बेच कर करोड़ों रुपए बनाए।
12. मनीष कुमार
पाटीपुल, दीघा, पटना
आरोप- गलत तरीके से कई प्लॉट बेचकर करोड़ों रुपए बनाए।
13. सत्यनारायण सिंह
एकौना कोठी, केसरी नगर, पटना
आरोप- आवास बोर्ड की कई बीघे जमीन को बेच डाला।
14. शैलेश सिंह
पिता- सत्यनारायण सिंह, एकौना कोठी, केसरी नगर, पटना
15. सुनील सिंह
पिता- सत्यनारायण सिंह, केसरी नगर, पटना
आरोप- जमीन कब्जा करने के मामले में पहले से कई केस दर्ज है। हाल के दिनों में भी प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

होटल-रिसॉर्ट के मालिक बन गए भू-माफिया
आवास बोर्ड की जमीन बेचने वाले भू-माफिया की संपत्ति की जांच कराई जा रही है। कइयों का डिटेल जुटा लिया गया है। इन पर आरोप है कि दीघा में आवास बोर्ड की जमीन की बंदरबांट कर बेच दी। इससे करोड़ों रुपए की अवैध कमाई की। छोटे स्तर पर भी कई भू-माफिया ने कम-से-कम तीन-चार बीघे जमीन को बेच ही डाली। जांच में पता चला है कि नेपाली नगर की चंद्रविहार कॉलोनी में रहने वाला एक शख्स कभी साइकिल से घूमा करता था। मगर अब जसीडीह से गिरिडीह जाने वाली रोड पर तीन बीघे जमीन में रिसोर्ट और होटल है। पेट्रोल पंप खोलने की तैयारी में जुटा है। बिहार से लेकर झारखंड तक में कई पॉपर्टी है। आवास बोर्ड की जमीन बेचने के मामले में केस भी दर्ज है। कई भू-माफिया तो गलत काम को कानूनी दिखाने के लिए समितियां तक बना डाली। अवैध रूप से जमीन बेचने के आरोप में छह गृह निर्माण समितियों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें सुनील सिंह, नीरज सिंह, प्रमोद सिंह, नाकट गोप, अखिलेश राय, श्रीनाथ सिंह और शिवजी सिंह नाम शामिल है।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News