पटना में होर्डिंग लगवाकर YouTube सब्सक्राइबर्स खोज रहे हैं लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव

9
पटना में होर्डिंग लगवाकर YouTube सब्सक्राइबर्स खोज रहे हैं लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव

पटना में होर्डिंग लगवाकर YouTube सब्सक्राइबर्स खोज रहे हैं लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव

ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और नीतीश कुमार सरकार में वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग के कैबिनेट मंत्री तेज प्रताप यादव ने पटना शहर में कई जगहों पर होर्डिंग लगवाकर लोगों से अपने यू-ट्यूब चैनल एलआर ब्लॉग को सब्सक्राइब करने की अपील की है। कुछ दिन पहले तेजप्रताप के यू-ट्यूब चैनल LR Blog ने एक लाख सब्क्राइबर्स का सफर तय कर लिया है। तेज प्रताप के चैनल में एलआर का मतलब लालू और उनकी मां राबड़ी देवी है। एलआर ब्रांड नाम से वो पटना के मंदिरों में चढ़ने वाले फूल से बने अगरबत्ती का व्यापार पहले से कर रहे हैं।

तेज प्रताप यादव ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर खुद के घूमने-फिरने, मंदिर दर्शन के वीडियो के अलावा एक कार का रिव्यू भी डाला है। लगभग डेढ़ साल पहले नवंबर 2021 में शुरू किए गए इस चैनल पर कुल 38 वीडियो हैं जिसमें ज्यादातर उनके मंदिर, बाजार या किसी शहर घूमने के हैं। 3 जून को उनके चैनल के सब्सक्राइबर्स की संख्या 1 लाख पार कर गई जिस दिन उन्होंने लाइव किया और तब तक लाइव बर बैठे रहे जब तक कमिटेड दर्शकों की संख्या एक लाख से ऊपर नहीं चला गया। उन्होंने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय यह कहकर दर्शकों को दिया था कि उनके प्यार से ही संभव हो पाया है।

तेज प्रताप ने शुरू किया नया बिजनेस, लालू-राबड़ी के नाम पर बना रहे अगरबत्ती

राजनीति और सरकार के क्षेत्र में तेज प्रताप यादव हाल में भागलपुर में गंगा पर गिरे पुल पर दिए बयान को लेकर चर्चा में हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि पुल तो बीजेपी ने गिराया है। तेज प्रताप ने कहा था- पुल तो बीजेपी वाले गिरवाए हैं। हम लोग तो पुल बना रहे हैं, वो लोग गिरा रहे हैं। उनका यह बयान इसलिए चर्चा में आ गया क्योंकि डिप्टी सीएम और उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव ने दावा किया था कि आईआईटी रुड़की की रिपोर्ट के आधार पर पुल के सारे सेगमेंट विभाग ने गिराए हैं।

पुल तो भाजपा ने गिराया है; तेज प्रताप के नीतीश और तेजस्वी यादव से अलग सुर

तेज प्रताप यादव की चर्चा 2 जून को भी हुई जब मुख्यमंत्री आवास पर वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन विभाग की समीक्षा बैठक में हिस्सा लेने विभाग के मंत्री के तौर पर तेज प्रताप नहीं पहुंचे। पटना में रहकर भी तेज प्रताप के नहीं आने को लेकर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया। विभागीय मंत्री की गैरहाजिरी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों की मीटिंग ली और जल जीवन हरियाली अभियान के तहत वृक्षारोपण के काम की समीक्षा की।

बिहार बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने होर्डिंग लगाने पर तेज प्रताप की चुटकी ली है और कहा है कि परिवार, पार्टी या सरकार में उनका महत्व नहीं है तो इसी तरह सुर्खियों में बने रहते हैं। निखिल आनंद ने ट्वीट किया है- “बिहार के वन-पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप का राजद सुप्रीमो लालूजी के बड़े बेटे होने के बावजूद परिवार, पार्टी, संगठन या सरकार में बहुत महत्व नहीं है। तेजस्वी लालूजी के सर्वमान्य सर्वश्रेष्ठ उत्तराधिकारी घोषित है। जाहिर है तेज प्रताप सुर्खियों में बने रहने की कोशिश करते रहते हैं।”

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News