पगड़ी बदली, काला चश्मा लगाया, कार छोड़ बाइक पर आया… कैसे पुलिस को चकमा देकर भागा अमृतपाल, सीसीटीवी से हुआ साफ

29
पगड़ी बदली, काला चश्मा लगाया, कार छोड़ बाइक पर आया… कैसे पुलिस को चकमा देकर भागा अमृतपाल, सीसीटीवी से हुआ साफ

पगड़ी बदली, काला चश्मा लगाया, कार छोड़ बाइक पर आया… कैसे पुलिस को चकमा देकर भागा अमृतपाल, सीसीटीवी से हुआ साफ

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस ने मंगलवार को कहा कि कट्टरपंथी उपदेशक अमृतपाल सिंह को भागने में मदद करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने भगोड़े को पकड़ने में लोगों की मदद लेने के लिए सिंह की सात तस्वीरें भी जारी कीं, जिनमें कुछ में उसने पगड़ी नहीं पहनी हुई है। पुलिस ने शनिवार को कट्टरपंथी उपदेशक अमृतपाल सिंह और उसके संगठन ‘वारिस पंजाब दे’ के सदस्यों के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई शुरू की थी। हालांकि, उपदेशक पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल रहा।

अमृतपाल शुरू में अपने मर्सिडीज वाहन में था, लेकिन बाद में शनिवार को उसके खिलाफ पुलिस कार्रवाई के दौरान वह ब्रेजा एसयूवी में भाग निकला। सोशल मीडिया पर सामने आई एक नयी तस्वीर में, अमृतपाल को गुलाबी पगड़ी और काला चश्मा पहने बाइक पर पीछे बैठे देखा जा सकता है। इससे संकेत मिला है कि उसने पुलिस की नजरों से बचने के लिए अपना रूप बदलने की कोशिश की। सीसीटीवी फुटेज में उसे बाइक पर बैठे देखा जा सकता है।

मंगलवार को सोशल मीडिया पर सामने आए जालंधर टोल प्लाजा के एक अन्य सीसीटीवी फुटेज में अमृतपाल को ब्रेजा एसयूवी में भागते हुए देखा गया है। पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) सुखचैन सिंह गिल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि गिरफ्तार किए गए चार लोगों ने एक स्पोर्ट्स यूटिलिटी वाहन (एसयूवी) में भगोड़े को भागने में मदद की।

पुलिस ने कहा कि इन चार लोगों से पूछताछ के दौरान यह सामने आया कि अमृतपाल जालंधर के नंगल अंबियन गांव में एक गुरुद्वारे गया था। गिल ने कहा, ‘वहां उसने (अमृतपाल) अपने कपड़े बदले, शर्ट और पैंट पहनी और तीन अन्य लोगों के साथ दो बाइक पर सवार होकर फरार हो गया।’

गिल ने कहा कि मनप्रीत सिंह उर्फ मन्ना, गुरदीप सिंह उर्फ दीपा, हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी और गुरभेज सिंह उर्फ भेजा को अमृतपाल सिंह को भगाने में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि एसयूवी को जब्त कर लिया गया है और इसमें .315 बोर की एक राइफल, कुछ तलवारें तथा एक वॉकी-टॉकी सेट मिला है।

पुलिस ने अलग-अलग पोशाक में अमृतपाल सिंह की सात तस्वीरें भी जारी कीं और लोगों से उसका पता लगाने में मदद करने की अपील की। आईजी ने कहा कि अमृतपाल को पकड़ने के प्रयास जारी हैं और इस सिलसिले में अब तक 154 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

गिल ने कहा कि अमृतपाल के चाचा हरजीत सिंह और ड्राइवर हरप्रीत सिंह पर हथियार का डर दिखा जालंधर के उड्डोवाल गांव के सरपंच मनप्रीत सिंह के यहां शरण लेने के लिए एक अलग मामला दर्ज किया गया है।

हरजीत सिंह को असम के डिब्रूगढ़ जेल में ट्रांसफर कर दिया गया और हरप्रीत ने जालंधर में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। गिल ने कहा कि पंजाब में स्थिति पूरी तरह शांतिपूर्ण है और मुख्यमंत्री भगवंत मान स्थिति की निगरानी कर रहे हैं व पुलिस अधिकारियों से नियमित ‘फीडबैक’ ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारियों को इस मामले में राज्यों और केंद्रीय एजेंसियों का पूरा सहयोग मिल रहा है।

आईजी ने कहा कि मोहाली के सोहना में गुरुद्वारा शहीदां के पास अमृतपाल के समर्थन में निहंगों के एक समूह की ओर से किया गया प्रदर्शन अब समाप्त हो गया है और सड़क यातायात के लिए खुली है।

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News