तेजस्वी की इस मांग पर साथ आए सुशील मोदी, कहा- लगनी चाहिए रामविलास पासवान की प्रतिमा, जेडीयू ने कही ये बात

0
71

तेजस्वी की इस मांग पर साथ आए सुशील मोदी, कहा- लगनी चाहिए रामविलास पासवान की प्रतिमा, जेडीयू ने कही ये बात

पटना
एलजेपी संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पहली बरसी के बीच बिहार में सियासी घमासान तेज होता जा रहा है। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को रामविलास पासवान और रघुवंश प्रसाद सिंह की प्रतिमा लगाने को लेकर एक पत्र सीएम नीतीश कुमार को लिखा। इस बीच सत्ताधारी एनडीए में शामिल बीजेपी की ओर से भी पासवान की प्रतिमा लगाने की बात कही गई है। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने इस संबंध में ट्वीट किया है, जिसमें वो नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का सपोर्ट करते नजर आ रहे हैं।

पासवान को लेकर सुशील मोदी ने किया ये ट्वीट
रामविलास पासवान की पहली बरसी पर सुशील मोदी ने शनिवार शाम में बैक टु बैक कई ट्वीट किए। उन्होंने लिखा- ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बिहार के विकास और राष्ट्रीय राजनीति में जो बड़ी भूमिका निभायी, उसे देखते हुए पटना में उनकी प्रतिमा लगनी चाहिए। उन्होंने दलितों को आगे बढ़ाने के लिए लगातार संघर्ष किया, लेकिन कभी नफरत की राजनीति नहीं की। उनकी जयंती पर राजकीय समारोह होना चाहिए।’

इसे भी पढ़ें:- रामविलास पासवान की पहली बरसी पर पीएम मोदी ने लिखी इमोशनल चिट्ठी, बेटे चिराग ने कहा- आपका आशीर्वाद हमेशा बना रहे

‘एनडीए राजनीति के प्रमुख शिल्पी थे रामविलास पासवान’
सुशील मोदी ने एक और ट्वीट में लिखा, ‘रामविलास पासवान एनडीए राजनीति के प्रमुख शिल्पी थे। उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र भाई मोदी की यशस्वी सरकारों में रह कर देश की सेवा की। रेल मंत्री के रूप में उनके योगदान को बिहार कभी नहीं भुला सकता।’

Patna News : भतीजे के हाजीपुर जाने पर भड़के पशुपति पारस, बोले- चिराग पासवान से पूछो काहे बार-बार दौरा कर रहा, क्यों परेशान है?

बीजेपी सांसद बोले- इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए
दिग्गज बीजेपी नेता ने आगे लिखा, ‘1977 में आपातकाल हटने के बाद पहले संसदीय चुनाव में रामविलास पासवान ने सबसे ज्यादा मतों के अंतर से जीतने का रिकार्ड बनाया था। ऐसे लोकप्रिय नेता की पहली बरसी पर सभी दलों और वर्गों के लोग उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।’

इसे भी पढ़ें:- रामविलास और रघुवंश के लिए तेजस्वी की सीएम नीतीश को चिट्ठी, कर दी ये बड़ी मांग… क्या मानेंगे मुख्यमंत्री?

तेजस्वी ने अपनी मांग को लेकर सीएम नीतीश को लिखी है चिट्ठी
सुशील मोदी की इस डिमांड से पहले तेजस्वी यादव ने भी ऐसी ही मांग उठाई है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखकर, ‘रामविलास पासवान और रघुवंश प्रसाद सिंह की बिहार में प्रतिमा स्थापित करते हुए उनकी जयंती या पुण्यतिथि पर राजकीय समारोह घोषित करने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष ने इस पत्र को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘स्व. डॉक्टर रघुवंश प्रसाद सिंह और स्व. रामविलास पासवान, दोनों ही राज्य के महान विभूति होने के साथ-साथ प्रखर समाजवादी नेता थे। दोनों ही राजनेताओं ने अपने सामाजिक सरोकारों और सक्रिय राजनीतिक जीवन के माध्यम से बिहार राज्य की उल्लेखनीय सेवा की। दोनों बिहार के ऐसे सपूत रहे हैं जिनके व्यक्तित्व और कृतित्व से हम सभी बिहारवासी सदा ऋणी रहेंगे।’

‘अरे चिराग बाबू की बात क्यों करते हैं…’, देखिए कैसे भतीजे के नाम पर झल्ला गए चाचा पशुपति पारस

पासवान की प्रतिमा को लेकर उठ रही मांग पर चिराग ने क्या कहा
वहीं, रामविलास पासवान की प्रतिमा लगाए जाने की तेजस्वी की मांग पर चिराग पासवान ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, ‘हम लोग भी चाहते हैं कि उनकी मूर्ति लगे और जो लोगों के लिए उन्होंने काम किया, आगे आने वाले समय में लोग उनको जान सकें।’ जमुई सांसद ने रविवार को कहा, ‘हमारे नेता (रामविलास पासवान ) का 50 साल का सक्रिय राजनीति में बेदाग योगदान रहा। राज्य की तरफ से उन्हें सम्मान मिलना चाहिए। मैं चाहता हूं कि राष्ट्रीय शोक की घोषणा हो। मैं चाहता हूं कि उनकी एक प्रतिमा भी राज्य में लगाई जाए ताकि आने वाली पीढ़ी उनके मार्गदर्शन लें।’

Bihar News : तेजस्वी यादव अपने बड़े भाई को निपटाना चाहते हैं और चिराग पासवान अपने चाचा को : बीजेपी

जेडीयू का तेजस्वी-चिराग पर पलटवार
पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को लेकर तेजस्वी की ओर से की जा रही मांग पर जेडीयू ने पलटवार किया है। जेडीयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कुछ दलों के नेता स्व. रामविलास पासवान के नाम पर राजनीति कर रहे हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। रामविलास पासवान आज हमारे बीच नहीं हैं। सामाजिक परिवर्तन में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उनके नाम पर कुछ मांग की जा रही, हमारे मुख्यमंत्री इस पर फैसला लेने में सक्षम हैं। जो भी फैसला लेना होगा सीएम लेंगे।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News

Source link