डी सुरेश IAS केस ने पकड़ा तूल, पत्नी ने ACB पर लगाए ब्लैकमेलिंग के आरोप तो एंजेंसी ने मांगी जांच की अनुमति

11
डी सुरेश IAS केस ने पकड़ा तूल, पत्नी ने ACB पर लगाए ब्लैकमेलिंग के आरोप तो एंजेंसी ने मांगी जांच की अनुमति

डी सुरेश IAS केस ने पकड़ा तूल, पत्नी ने ACB पर लगाए ब्लैकमेलिंग के आरोप तो एंजेंसी ने मांगी जांच की अनुमति

चंडीगढ़: भ्रष्टाचार के मामले में एंटी करप्शन ब्यूरो की जांच का सामना कर रहे हरियाणा के आईएएस अधिकारी डी.सुरेश की पत्नी ने एसीबी पर अभद्रता करने और ब्लैकमेल करने के आरोप लगाते हुए एसीबी के खिलाफ मामला दर्ज किए जाने की मांग की है। डी.सुरेश की पत्नी कांति डी सुरेश ने इस बारे में पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है। 2019 के दौरान गुड़गांव में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण में मुख्य प्रशासक रहते हुए आईएएस डी.सुरेश पर एक स्कूल को गलत तरीके से जमीन देने का आरोप है। उन्होंने करीब डेढ़ एकड़ जमीन वर्ष 1992 की दर से आवंटित कर दी थी। मामले ने तूल पकड़ लिया है। आईएएस ने पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट का रुख किया है तो एसीबी ने शासन से आईएएस के खिलाफ कार्रवाई करने की अनुमति मांगी है। एसीबी ने अप्रैल में अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की अनुमति के लिए सीएसओ कार्यालय को पत्र लिखा था।इस बीच, डी सुरेश के रिश्तेदारों ने एसीबी पर अप्रैल में उनकी कंपनी के कुछ कर्मचारियों से अवैध रूप से पूछताछ करने का आरोप लगाया और उनके हस्तक्षेप के लिए मुख्य सचिव को एक आवेदन दिया। उन्होंने हरियाणा के डीजीपी और स्थानीय पुलिस को एसीबी के उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की शिकायत भी की, जिन्होंने उनकी कंपनी के कार्यालयों में छापेमारी की थी।

गरीबी में संघर्ष किया, पैर भी टूटा, पर हिम्मत नहीं…अब एशियन चैंपियनशिप और एशियन गेम्स हिस्सा लेंगी प्रीती
इस मामले की जांच एसीबी कर रही है। डी.सुरेश की पत्नी कांति डी सुरेश गुरुग्राम के सेक्टर-44 में कांति डी सुरेश का पावर स्पोर्टेज टीवी का कार्यालय है। वह टीवी एंकर हैं और स्पोटर्स कंमेटटर भी हैं।

‘अवैध तरीके से अकाउंटेंट को उठाया’

आरोप है कि यहां 26 अप्रैल को एसीबी ने उनकी गैर मौजूदगी में उनके कार्यालय का दौरा किया। इस दौरान विजिलेंस की टीम वहां बैठे अकाउंटेंट राजेंद्र प्रसाद को अपने साथ ले गई। कांति ने आरोप लगाया है कि उनके कार्यालय में सीसीटीवी लगे हुए हैं। जिसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि विजिलेंस अधिकारी अवैध तरीके से अकाउंटेंट राजेंद्र प्रसाद को ले जाते हुए नजर आ रहे हैं।

navbharat times -Faridabad News: डेढ़ साल से कागजों में ही बन रही दुर्घटना रोकने के लिए मॉडल सड़कें, देखें फरीदाबाद का हाल
कांति सुरेश ने इसी को आधार बनाया है। कांति इस बारे में पुलिस महानिदेशक को दो बार शिकायत कर चुकी हैं। उन्होंने डीजीपी के अलावा गुरुग्राम के जिला उपायुक्त व पुलिस आयुक्त को भी पत्र लिखा है। कांति ने अधिकारियों से आग्रह किया है कि जल्द से जल्द उन अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज की जाए जो उन्हें धमकाकर ब्लैकमेल कर रहे हैं।

एसीबी ने शासन से मांगी अनुमति

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की गुड़गांव इकाई ने मुख्य सचिव के कार्यालय से संपर्क कर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 17 के तहत वरिष्ठ नौकरशाह डी सुरेश के खिलाफ कार्रवाई करने की अनुमति मांगी है। आईएएस ने हाई कोर्ट में जो याचिका दायर की है उस पर सुनवाई 30 जून को होनी है।

एसीबी ने अप्रैल में अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की अनुमति के लिए सीएसओ कार्यालय को पत्र लिखा था। इस बीच, डी सुरेश के रिश्तेदारों ने एसीबी पर अप्रैल में उनकी कंपनी के कुछ कर्मचारियों से अवैध रूप से पूछताछ करने का आरोप लगाया और उनके हस्तक्षेप के लिए मुख्य सचिव को एक आवेदन दिया। उन्होंने हरियाणा के डीजीपी और स्थानीय पुलिस को एसीबी के उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की शिकायत भी की, जिन्होंने उनकी कंपनी के कार्यालयों में छापेमारी की थी।

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News