डीयू: 24 तक भरनी होगी कोर्स-कॉलेज की पसंद, दो राउंड के बाद ही क्लासें

4
डीयू: 24 तक भरनी होगी कोर्स-कॉलेज की पसंद, दो राउंड के बाद ही क्लासें

डीयू: 24 तक भरनी होगी कोर्स-कॉलेज की पसंद, दो राउंड के बाद ही क्लासें

विशेष संवाददाता, नई दिल्लीः कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जामिनेशन (सीयूईटी) के रिजल्ट के बाद स्टूडेंट्स अब दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंडरग्रैजुएट कोर्स और कॉलेज की पसंद भरेंगे। सोमवार को डीयू ने एडमिशन प्रक्रिया का दूसरा फेज शुरू किया, जिसके तहत अब स्टूडेंट्स कोर्स और कॉलेज का कॉम्बिनेशन की वरीयता देंगे। इसके लिए डीयू ने 24 जुलाई तक का वक्त दिया है। यूनिवर्सिटी 16 अगस्त तक ज्यादा से ज्यादा एडमिशन कर क्लासें शुरू करना चाहती है इसलिए इस बार सिर्फ एक हफ्ते तक का समय दिया जा रहा है। हालांकि, स्टूडेंट्स और टीचर्स ने इसे कम बताया है, खासतौर पर दिल्ली समेत देशभर के कई इलाकों में भारी बारिश से आयी आपदा और बाढ़ की वजह से प्रभावित स्टूडेंट्स के लिए।डीयू के रजिस्ट्रार प्रो. विकास गुप्ता ने सोमवार को जानकारी दी कि दूसरे फेज के साथ साथ रजिस्ट्रेशन का पहला फेज भी जारी रहेगा, जिसमें स्टूडेंट्स अकैडमिक डिटेल्स भर सकेंगे और जो भर चुके हैं, वो अब करेक्शन कर सकेंगे। करेक्शन विंडो 20 जुलाई शाम 4:59 बजे तक खुली रहेगी और आरक्षित वर्ग के स्टूडेंट्स अपने नए डॉक्युमेंट्स भी अपलोड कर सकेंगे। मगर नाम, फोटो और सिग्नेचर में बदलाव मुमकिन नहीं होगा।

DU में इतने पर्सेंटाइल वालों को ही मिल सकता है एडमिशन, जानें सीट मैट्रिक्स और संभावित कटऑफ

27 को लॉक हो जाएगी प्रेफरेंस

डीयू ने कॉमन सीट एलोकेशन सिस्टम (सीएसएएस) 2023 में कॉलेज और कोर्स की प्रेफरेंस भरने के लिए स्टूडेंट्स को सिर्फ एक हफ्ते का समय दिया है। यूनिवर्सिटी का कहना है कि स्टूडेंट्स 24 जुलाई शाम 5 बजे तक फॉर्म भर सकते हैं। इन प्रेफरेंस को 27 जुलाई शाम 5 बजे लॉक कर दिया जाएगा। 29 जुलाई शाम 5 बजे सिम्युलेटेड लिस्ट निकाली जाएगी। यह स्टूडेंट्स को अपने डैशबोर्ड में नजर आएगी। यह रैंक असल रैंक नहीं बल्कि इससे स्टूडेंट्स को अंदाजा हो सके कि उसे सीयूईटी स्कोर के तहत किस कॉलेज में दाखिला मिल सकता है। इस रैंक के आधार पर 29 जुलाई शाम 5 बजे से 30 जुलाई रात 11:59 बजे तक स्टूडेंट्स को कॉलेज-कोर्स के कॉम्बिनेशन की वरीयता को बदलने के लिए मौका मिलेगा ताकि उनके दाखिले का चांस मजबूत हो।

पहली लिस्ट एक अगस्त को

पहली सीट एलोकेशन लिस्ट एक अगस्त शाम 5 बजे जारी होगी। इसके आधार पर स्टूडेंट्स एक अगस्त शाम 5 बजे से 4 अगस्त शाम 4:59 बजे तक सीट स्वीकार कर सकेंगे। कॉलेज स्टूडेंट्स की ऑनलाइन ऐप्लिकेशन को 1 से 5 अगस्त शाम 4:59 बजे तक मंजूर करेंगे। फीस 6 अगस्त शाम 4:59 बजे तक भरी जा सकेगी। इसके बाद खाली सीटों की जानकारी वेबसाइट में 7 अगस्त शाम 5 बजे अपलोड होगी। इसके बाद स्टूडेंट्स 7 और 8 अगस्त अपनी हायर प्रेफरेंस को फिर से नए ऑर्डर में रख सकेंगे। दूसरी एलोकेशन लिस्ट 10 अगस्त को जारी हेागी। स्टूडेंट्स 10 से 13 अगस्त को सीटें स्वीकार कर सकेंगे और कॉलेज 14 अगस्त तक एडमिशन को मंजूरी देंगे। 15 अगस्त तक फीस भरी जा सकेगी।

navbharat times -MBBS स्टूडेंट्स को बड़ा झटका, इन मेडिकल कॉलेजों की फीस 1 लाख तक बढ़ाई गई

17 अगस्त को मिड एंट्री

यूनिवर्सिटी दो राउंड के बाद क्लासें शुरू कर देगी। हालांकि, एडमिशन प्रक्रिया जारी रहेगी। खाली सीटों की जानकारी 17 अगस्त को दी जाएगी और स्टूडेंट्स अपनी वरीयता बदल सकेंगे। इसी के साथ-साथ मिड एंट्री के लिए भी विंडो खोली जाएगी यानी जो स्टूडेंट्स किसी कारणवश डीयू के एडमिशन पोर्टल पर दाखिले के लिए रजिस्टर नहीं कर पाए थे, वो एक हजार रुपये फीस देकर रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे। खाली सीटों पर उन्हें दाखिला मिलेगा। तीसरी एलोकेशन लिस्ट 22 अगस्त को जारी होगी, 26 अगस्त तक एडमिशन चलेंगे। इसके बाद भी सीटें खाली रहीं, तो एडमिशन के और राउंड भी रखे जाएंगे। डीयू की डीन एडमिशंस प्रो हनीत गांधी का कहना है कि स्टूडेंट्स कोर्स और कॉलेज में ज्यादा से ज्यादा कॉम्बिनेशन भरें। कोर्स-कॉलेज की प्रेफरेंस सही ऑर्डर में भरें। प्रेफरेंस लॉक होने के बाद राउंड पूरा होने तक इसे बदला नहीं जा सकेगा।

डीयू में 1.9 लाख स्टूडेंट्स ने जमा की ऐप्लिकेशन

डीयू में अंडरग्रैजुएट कोर्सों के लिए 2.60 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कर लिया है। सोमवार शाम तक इनमें से 1.91 लाख स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन फीस देकर ऐप्लिकेशन जमा कर दी थी। रजिस्ट्रेशन का आंकड़ा पिछले साल के आंकड़े यानी 2.17 लाख को पार कर चुका है और ऐप्लिकेशन जमा करने वाले स्टूडेंट्स का आंकड़ा भी ऊपर है। पिछले साल 1.75 लाख से ऊपर स्टूडेंट्स एडमिशन रेस में थे, इस बार अब तक 1.91 लाख रेस में हैं। यूनिवर्सिटी को अभी 69 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स से रजिस्ट्रेशन फीस देकर ऐप्लिकेशन जमा करने का इंतजार है। अगर इनमें से कई स्टूडेंट्स फीस दे देते हैं, तो सीयूईटी एडमिशन की रेस मुश्किल होगी।

पीएम मोदी ने झारखंड के लड़के से क्या पूछा, आपको जानना चाहिए

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News