टिल्लू की हत्या के बाद अगला मौका तलाश रहा है गोगी गैंग, अगला टारगेट हो सकता है यह गैंगस्टर

47
टिल्लू की हत्या के बाद अगला मौका तलाश रहा है गोगी गैंग, अगला टारगेट हो सकता है यह गैंगस्टर

टिल्लू की हत्या के बाद अगला मौका तलाश रहा है गोगी गैंग, अगला टारगेट हो सकता है यह गैंगस्टर

नई दिल्ली: सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया की तिहाड़ जेल में बेरहमी से हत्या के बाद से दिल्ली में गैंगवॉर का खतरा मंडराया हुआ है। दरअसल टिल्लू का परिवार इस जंग से खुद को दूर रखना चाहता है। लेकिन उत्तर भारत के दोनों क्राइम सिंडिकेट एक-दूसरे पर हमले की फिराक में हैं। इसलिए आने वाले दिनों ने खूनी गैंगवॉर होने की आशंका है। रोहिणी कोर्ट में सितंबर 2021 में जितेंद्र मान उर्फ गोगी की जज के सामने हत्या करवाने के बाद से ही टिल्लू टारगेट पर था। ऐसे में टिल्लू की हत्या होने के बाद से नीरज बवानिया क्राइम सिंडिकेट पलटवार का मौका खोज रहा है।उत्तर भारत के इस क्राइम सिंडिकेट में दिल्ली के बवाना का नीरज सहरावत उर्फ बवानिया, माजरा डबास का नवीन डबास उर्फ बाली, इसका भाई राहुल डबास उर्फ काला, खेड़ा खुर्द का परवेश मान, गुड़गांव का कौशल चौधरी, यूपी के बागपत का सुनील राठी, पंजाब का बंबीहा ग्रुप, ईस्ट दिल्ली का मोहम्मद इरफान उर्फ छेनू और साउथ दिल्ली का रोहित चौधरी गैंग शामिल हैं। इनके अलावा टिल्लू का शार्प शूटर दीपक पाकस्मा उर्फ सोनू भी फरारी काट रहा है। फिलहाल टिल्लू का करीबी और मजबूत गुर्गा यही है।

तिहाड़ : टिल्लू के मर्डर के बाद अगला टारगेट कौन? गैंगस्टर दीपक बॉक्सर गैंग ने खोले अहम राज
रोहतक के सांपला स्थित पाकस्मा गांव निवासी दीपक उर्फ सोनू पर डेढ़ लाख का इनाम है। टिल्लू गैंग का ये शार्पशूटर 2018 में दो मर्डर में शामिल रहा था। इसे पश्चिम विहार पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जेल से बाहर आने आया तो 2020 में बेगमपुर इलाके के रोहिणी सेक्टर-24 में के मर्डर में नाम आया। इसी केस में ये वॉन्टेड चल रहा है। पुलिस का दावा था कि ये टिल्लू के इशारे पर ये पूरे गैंग को बाहर से ऑपरेट कर रहा था। इसलिए टिल्लू गैंग की तरफ से यही बदला लेने को बेताब हो सकता है। पुलिस अफसर बताते हैं कि टिल्लू दिल्ली का एकमात्र ऐसा गैंगस्टर था, जिसने कभी किसी से रंगदारी नहीं मांगी। इसलिए उसके खिलाफ एक्सटॉर्शन का कोई मुकदमा दर्ज नहीं रहा है। ये जरूर है कि दूसरे गैंग अगर जबरन वसूली की कोशिश करते थे तो टिल्लू के पास कारोबारी प्रोटेक्शन के लिए जाते थे। इसलिए टिल्लू के पास फाइनैंसर थे, जिनमें गोगी गैंग के हाथों मारे गए कारोबारी अमित गुप्ता को भी माना जाता था। इसलिए गोगी गैंग ने टिल्लू गैंग को झटका देने के लिए उनकी हत्या को अंजाम दिया था।

navbharat times -3 जेल 25 गैंगस्टर्स और खूनी गैंगवार! पहले प्रिंस तेवतिया फिर टिल्लू ताजपुरिया, दिल्ली की जेलों में कब तक खूनी खेल!

‘गोगी गैंग का अगला टारगेट बाली’

पुलिस अफसरों का कहना है कि गोगी गैंग का अगला टारगेट नीरज बवानिया गैंग का नवीन डबास उर्फ बाली है। ये गोगी हत्याकांड के मुख्य साजिशकर्ताओं में रहा है। बाली को तिहाड़ से झज्जर जिले की क्राइम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (CIA) 18 मई तक की रिमांड पर ले गई है। झज्जर के बेरी नगर पालिका चेयरपर्सन के पति और कादयान खाप के प्रधान देवेंद्र उर्फ बिल्लू समेत तीन पर 28 मार्च को फायरिंग हुई थी। बाली के साजिश में शामिल होने का शक है। इस फायरिंग की जिम्मेदारी विदेश भाग चुके गैंगस्टर हिमांशु उर्फ भाऊ ने सोशल मीडिया पर ली थी, जो नीरज बवानिया गैंग का करीबी है। खुफिया इनपुट हैं कि झज्जर में रिमांड के दौरान गोगी गैंग बाली पर हमला करवा सकता है।

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News