जोधपुर में बारिश थमी, हालात काबू करने सेना को बुलाया, जानें बीसलपुर बांध का अपडेट | rajasthan weather forecast update | Patrika News

0
201

जोधपुर में बारिश थमी, हालात काबू करने सेना को बुलाया, जानें बीसलपुर बांध का अपडेट | rajasthan weather forecast update | Patrika News

मौसम विभाग के मुताबिक 28 जुलाई से 4 अगस्त तक प्रदेश में मानसून की गतिविधियों में कमी आने की संभावना है। तीन-चार अगस्त से मानसून का नया दौर शुरू होगा जिसमें बरसात की गतिविधियों में बढ़ोतरी होगी। इसके बाद 5 से 11अगस्त के मध्य राज्य में सामान्य से अधिक बरसात हो सकती है। 29 जुलाई से 1 अगस्त तक अजमेर, भरतपुर, जयपुर, कोटा, उदयपुर, बीकानेर, जोधपुर संभाग में कुछ स्थानों पर बरसात हो सकती है।

जोधपुर में बारिश थमी, हालात काबू करने सेना को बुलाया
जोधपुर में तीन दिन से चल रहा बारिश का सिलसिला तो गुरुवार को थम गया, लेकिन हालात अब भी काबू में नहीं आ रहे हैं। शहर की लगभग दो दर्जन से अधिक बस्तियां पानी से घिरी है। निचली बस्तियों में भरे पानी की निकासी और फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना व एनडीआरएफ की टीमें बुलानी पड़ी है। सेना के जवानों ने बीजेएस के निकट स्थित न्यू रूपनगर कॉलोनी से लोगों को नाव से बाहर निकाला। केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्रसिंह शेखावत और प्रभारी मंत्री सुभाष गर्ग भी अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने पहुंचे। डांगियावास थानान्तर्गत बिसलपुर गांव में भाटों की ढाणी के पास बरसाती पानी के बहाव में एक युवक बह गया। देर शाम तक उसका पता नहीं लग पाया। जिले में वर्षाजनित हादसों में पिछले तीन दिनों के दौरान नौ लोगों की जान जा चुकी है।

बीसलपुर बांध में पानी की आवक जारी
राजमहल. बीसलपुर बांध के जलभराव क्षेत्र सहित कैचमेंट एरिया में पड़ने वाले भीलवाड़ा जिले में दो दिनों पूर्व हुई बारिश के चलते बांध में पानी आवक लगातार बनी हुई हैं। बांध के कंट्रोल रूम के अनुसार बांध में बीते 24 घंटों के दौरान कुल 18 सेमी पानी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बांध परियोजना के कनिष्ठ अभियंता अजय शर्मा ने बताया कि बांध का गेज गुरुवार गुरुवार शाम 6 बजे तक एक सेमी की बढ़ोतरी के गेज 310.42 आर एल मीटर दर्ज किया गया है, जिसमें 11.954 टीएमसी का जलभराव हो गया है। साथ ही गुरुवार शाम 6 बजे तक त्रिवेणी का गेज 50 सेमी घटकर 3.10 मीटर रह गया है।

तीन साल बाद फिर जुलाई में ही छलका बाघेरी का नाका
खमनोर (राजसमंद). मचींद-फतहपुर की पहाडिय़ों के बीच से बहती जीवनदायिनी बनास पर बना बाघेरी का नाका बांध गुरुवार दोपहर 12 बजकर 5 मिनट पर छलक गया। हरियाली अमावस्या पर बड़ी संख्या में लोग बाघेरी नाका पर पिकनिक मनाने पहुंचे थे। इस दौरान दोपहर 12 बजे लबालब होते ही हवाओं से बनी लहरें बाघेरी के 32.80 फीट ऊंचे नाका से उछलक कर बाहर की ओर गिरने लगीं। बाघेरी नाका पिछले साल की तुलना में 69 दिन पहले छलक गया है। गत वर्ष 2021 में मानूसन फीका रहा और लंबे इंतजार के बाद 4 अक्टूबर को यह बांध छलका था।

Copy



राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News