जयपुर की अनिता बनीं स्किन बैंक की पहली डोनर, 60 फीसदी जले मरीजों को मिल सकेगा जीवनदान, वो भी फ्री…

0
210

जयपुर की अनिता बनीं स्किन बैंक की पहली डोनर, 60 फीसदी जले मरीजों को मिल सकेगा जीवनदान, वो भी फ्री…

Rajasthan Skin Bank News: जयपुर की एक महिला अनिता गोयल की हार्ट अटैक से मौत के बाद सोमवार को उनकी स्किन डोनट कर दी गई। उनके निधन के बाद शरीर से स्किन रिसीव करके उसे स्किन बैंक में रखवाया गया है। डॉक्टरों की मानें तो किसी बर्न केस के मरीज के लिए यह स्किन जीवनदायी साबित होगी।

 

हाइलाइट्स

  • राजस्थान के सवाई मानसिंह अस्पताल में प्रदेश की पहला स्किन डोनेशन हुआ
  • जयपुर में स्किन बैंक की शुरुआत के बाद पहली बार कोई कैडेवर स्किन डोनेन मिला
  • 50 साल की अनिता गोयल की हार्ट अटैक से मौत के बाद स्किन रिसीव हुई
  • ऐसे मरीज जो 60 फीसदी जले हैं, उनको लगाई जा सकेगी स्किन
जयपुर: राजस्थान के सवाई मानसिंह अस्पताल (sms hospital jaipur) में प्रदेश की पहला स्किन डोनेशन हुआ है। जयपुर में स्किन बैंक (skin bank) की शुरुआत के बाद पहली बार कोई कैडेवर स्किन डोनेन मिला है। यह डोनर हैं राजधानी के वैशाली नगर की 50 साल की अनिता गोयल (skin donor anita goel)। महिला की हार्ट अटैक से मौत के बाद सोमवार को उनके शरीर से स्किन रिसीव करके उसे स्किन बैंक में रखवाया गया है। यह स्किन 5 साल तक इस बैंक में सुरक्षित रह सकती है। डॉक्टरों की मानें तो किसी बर्न केस के मरीज के लिए यह स्किन जीवनदायी साबित होगी। ऐसे मरीज जो 60 फीसदी जले हैं, उनकी ब्लड टेस्ट की रिपोर्ट के बाद डोनेट की गई स्किन को लगाया जाएगा। खास बात यह है कि प्रदेश में चिंरजीवी योजना के तहत इस तरह का इलाज फ्री मुहैया संभव हो सकेगा।

क्या है स्किन डोनेशन, कौन बन सकता है डोनर?

एसएमएस हॉस्पिटल प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. आरके. जैन के अनुसार किसी व्यक्ति के निधन के बाद स्किन डोनेट की जा सकती है। डोनेट करने वाले की उम्र की कोई सीमा नहीं है। मौत के बाद यदि शव को कोल्ड स्टोरेज में रखा है तो व्यक्ति की स्किन अगले 24 घंटे तक सुरक्षित रखी जा सकती है। इस स्किन से 60 फीसदी बर्न मरीज को नया जीवन मिल सकता है।
navbharat times -Bharat Jodo Yatra: राहुल गांधी संग कदम मिलाते गिर पड़े उदयपुर के पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, फ्रेक्टचर के बाद चढ़ा प्लास्टर
मौत का खतरा 90 फीसदी तक कम

डॉक्टराें के अनुसार बर्न केस में मरीज की स्किन 60 फीसदी या उससे ज्यादा जल जाती है उसकी मौत का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन ऐसी कंडीशन में यदि स्किन मिल जाए तो उसकी जान बचाई जा सकती है। ऐसे इलाज में मरीज के बचने की संभावना 90 फीसदी तक होती है।

एक-दूजे को फूटी आंख नहीं सुहाते गहलोत और पायलट, राहुल गांधी के सामने हाथ पकड़कर करते दिखे डांस

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News