गुड़गांव में बनेगा प्रदेश का पहला इंटरनेशनल बिजनस सेंटर, जानें क्या-क्या होंगी सुविधाएं

0
58

गुड़गांव में बनेगा प्रदेश का पहला इंटरनेशनल बिजनस सेंटर, जानें क्या-क्या होंगी सुविधाएं

प्रमुख संवाददाता, गुड़गांव : कहते हैं कि किसी भी क्षेत्र की समृद्धि की कहानी वहां के उद्योगों के विकास से शुरू होती है और उद्योगों के विकास में एक्सपोर्ट अहम कड़ी है। इसी अहम कड़ी को मजबूत बनाने की तैयारी की गई है। प्रदेश का पहला इंटरनैशन बिजनेस सेंटर (IBC) अब डीटी मेगा मॉल में बनेगा। पहले इसे उद्योग विहार में बनाने की योजना थी। इसके लिए फंड जारी कर दिया गया है। अगले महीने तक निर्माण कार्य पूरा होने का दावा किया जा रहा है। आईबीसी से जिले के लघु उद्योगों को ऑक्सिजन मिलेगी। इनके लिए भी माल को एक्सपोर्ट करना आसान हो जाएगा।

ऑटो मोबाइल सेक्टर का हब है गुड़गांव
ऑटो मोबाइल सेक्टर का गुड़गांव हब है। स्टार्टअप का भी बड़ा केंद्र है। सैकड़ों ऐसे उद्योग हैं जो यहां तैयार सामान को ऑनलाइन बेचते हैं। बड़े उद्योगों के लिए एक्सपोर्ट करना तो आसान है, लेकिन लघु उद्योगों के लिए टेढ़ी खीर बन जाते हैं। दूसरे देशों में माल भेजने की लंबी प्रक्रिया और कानूनी पहलुओं की वजह से छोटे उद्यमी कदम पीछे खींच लेते हैं। आईबीसी खुलने से यह दिक्कत दूर हो जाएगी। लघु उद्यमी भी आसानी से अपना सामान विदेश भेज सकेंगे। उन्हें कस्टम क्लियरेंस और दूसरी बातों के बारे में सोचना नहीं पड़ेगा। आईबीसी से ही कस्टम क्लियरेंस भी मिल जाएगी।

LIC IPO news: एलआईसी के आईपीओ के लिए दुनियाभर के दिग्गज निवेशकों को न्योता, जानिए कितना भरेगा सरकार का खजाना
गड़बड़ी मिली तो नहीं होगा एक्सपोर्ट
कोई भी सामान एक्सपोर्ट करने से पहले उसके बारे में एक घोषणा पत्र लिया जाएगा। फिर एक्सपोर्ट होने वाले सामान को दिल्ली भेजा जाएगा। दिल्ली में उस सामान की स्क्रीनिंग (जांच) होगी। स्क्रीनिंग में अगर घोषणा पत्र के अनुरूप सामान नहीं मिला या कोई दूसरी गड़बड़ी मिली तो उस सामान को एक्सपोर्ट नहीं किया जाएगा। एक्सपोर्ट करने का चार्ज किस तरह से वसूल किया जाएगा, इसकी जानकारी भी जल्द देने की तैयारी की गई है।

navbharat times -सेमीकंडक्टर की किल्लत होगी दूर, यहां मैन्यूफैक्चरिंग के लिए फॉक्सकान ने मिलाया इस भारतीय कंपनी से हाथ
पैकिंग की सुविधा भी मिलेगी
अधिकारियों की मानें तो आईबीसी में लोगों की सहूलियत के लिए आधुनिक पैकिंग मशीनें भी लगाई जाएंगी। मशीनों से पैकिंग करने के एवज में लोगों से चार्ज लिया जाएगा। किस आइटम या किस साइज की पैकिंग का कितना चार्ज होगा, इसकी जानकारी के लिए लिस्ट चस्पा की जाएगी। यहां प्रक्रिया को समझाने के लिए हेल्प डेस्क भी बनाने की योजना है। एक्सपोर्ट को बढ़ावा दिए जाने के लिए कंपनी या किसी अन्य जगह से सामान को उठाने की सुविधा भी दी जाएगी।

प्रॉजेक्ट में हो रही देर
आईबीसी को लेकर लंबे समय से काम चल रहा है। कोरोना के साथ ही दूसरी अड़चनों की वजह से प्रॉजेक्ट में काफी देर हो चुकी है। पिछले साल अगस्त में इसे शुरू करने की तैयारी की गई थी। लेकिन, किन्हीं वजहों से काम शुरू नहीं हो सका। इस प्रॉजेक्ट से जुड़े पोस्टल डिपार्टमेंट के सीनियर अधिकारी ने बताया कि आईबीसी के स्थान में बदलाव किए जाने की प्लानिंग है। मार्च में इसे चालू कराने का प्रयास किया जा रहा है।

Copy

पंजाब की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Punjab News