गहलोत के मंत्री ने फरियाद लेकर आई महिला से कहा गेट आउट, BJP बोली- क्या यही है लड़की हूं लड़ सकती हूं …

0
111

गहलोत के मंत्री ने फरियाद लेकर आई महिला से कहा गेट आउट, BJP बोली- क्या यही है लड़की हूं लड़ सकती हूं …

दौसा: राजस्थान में पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (Eastern Rajasthan Canal Project) लाने को लेकर जहां CM गहलोत ( CM Ashok gehlot ) राजनीतिक लड़ाई लड़ रहे है। बार बार इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Union Minister Gajendra singh shekhawat) पर निशाना साध रहे है और हर हाल में इस परियोजना को पूरा करने का दावा कर रहे हैं। वहीं सरकार के मंत्री इस परियोजना से जुड़ा ज्ञापन देने वाले लोगों के साथ किस तरह का व्यवहार कर रहे है। इसकी बानगी दौसा में सामने आई है। दरअसल पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ERCP Rajas) को लागू करने की मांग को लेकर आज दौसा के खुर्रा गांव से जयपुर के लिए पैदल यात्रा रवाना हुई। यह पैदल यात्रा जैसे ही मंडावरी में मंत्री परसादी लाल मीणा के आवास पर पहुंची तो जमकर हंगामा हुआ। यहां मंत्री मीणा ने लोगों के साथ अमर्यादित व्यवहार कर दिया।

मंत्री जी ने खोया आपा
समाजसेवी राजेश्वरी मीणा के नेतृत्व में निकाली जा रही इस पैदल यात्रा के दौरान मंत्री परसादी लाल मीणा को ज्ञापन दिया गया। पैदल यात्रा के रूप में ज्ञापन देने पहुंचे लोगों की ओर से मांग की जा रही थी कि वे ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करवाने के लिए संशोधित डीपीआर भिजवाए। काफी देर तक जब पैदल यात्रा के रूप में पहुंचे लोग मंत्री से बहस करते रहे, तो मंत्री जी ने आपा खो दिया और वह खड़े हो गए।

ERCP को लेकर तीन मंत्रियों ने PM मोदी और BJP पर किया जोरदार प्रहार

मंत्री मीणा और राजेश्वरी के बीच हुई तीखी नोंकझोंक
इस दौरान उन्होंने समाजसेवी राजेश्वरी मीणा सहित ज्ञापन देने आए लोगों को बाहर निकालने की बात कही और पुलिसकर्मी को बुला लिया। इस दौरान पुलिसकर्मी ने भी बिना महिला कांस्टेबल के ही ज्ञापन देने आई समाजसेवी महिला को मंत्री आवास से बाहर निकाल दिया। इस दौरान मंत्री परसादी लाल मीणा और समाजसेवी महिला के बीच जमकर नोकझोंक हुई और तीखी बहस भी हुई। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान समाजसेवी महिला मंत्री परसादी लाल मीणा के हाथ जोड़ती रही । साथ ही कहा कि उन्हें सिर्फ पानी चाहिए।

ऐसे में ईआरसीपी को लेकर राज्य सरकार अपनी कार्रवाई करें। केंद्र पर दबाव बनाएं। इस घटनाक्रम के बाद समाजसेवी महिला राजेश्वरी मीणा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होंने कहा कि बिना महिला पुलिसकर्मी के ही पुलिसकर्मियों ने धक्के देकर बाहर निकाला और उनके साथ अभद्रता की गई।

Copy

navbharat times -ERCP पर किरोड़ी ने गहलोत को घेरा, बोले- मुख्यमंत्री को ऐसी अमर्यादित भाषा शोभा नहीं देती

बीजेपी ने ट्वीट कर शुरू की घेराबंदी
इधर पूरे घटनाक्रम का वीडियो वायरल होने के बाद अब बीजेपी ने इस मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधा है। इस मामले को लेकर महाराष्ट्र बीजेपी नेता प्रीती गांधी ने सवाल उठाया है कि मंत्री पद पर बैठे व्यक्ति का महिला से गेटआउट कहना कितना ठीक है। उन्होंने प्रियंका गांधी के कैंपन लड़की हूं लड़ सकती हूं पर चुटकी लेते हुए लिखा कि कांग्रेस शासन में यह लागू नहीं हो सकती है।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को ‘निकम्मा’ क्यों कहा? सुनें- अशोक गहलोत की सफाई

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News