क्या बदल रहा है दिल्ली का मौसम? 77 साल बाद एक दिन में सबसे अधिक बारिश, इस साल 7 बार हो चुकी है भारी बारिश

0
152


क्या बदल रहा है दिल्ली का मौसम? 77 साल बाद एक दिन में सबसे अधिक बारिश, इस साल 7 बार हो चुकी है भारी बारिश

हाइलाइट्स

  • दिल्ली में हुई कुल बारिश का लगभग 60 से 70 प्रतिशत हिस्सा भारी बारिश
  • मौसम विभाग का पूर्वानुमान- रविवार को भी जारी रहेगा भारी बारिश का दौर
  • एक्सपर्ट की राय- भारी बारिश में बढ़ोतरी का सीधा संबंध क्लाइमेट चेंज से है

नई दिल्ली
राजधानी दिल्ली में शनिवार को हुई बारिश ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए। दिल्ली में इस मॉनसून सीजन में 1975 के बाद से साल की सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई है। इस साल सितंबर महीने के 11 दिन में ही 383.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। यह 77 साल में सबसे अधिक बारिश है। इससे पहले 1944 में पूरे सितंबर महीने में 417.3 एमएम बारिश हुई थी।

क्लामेट चेंज का असर है भारी बारिश
दिल्ली में इस मॉनसून के मौसम में अब तक सात बार भारी बारिश हुई है जो एक दशक में सबसे अधिक है। इससे पहले 1964 में 6 बार भारी बारिश दर्ज की गई थी। शहर में दर्ज की गई बारिश का 60 प्रतिशत से ज्यादा पानी इन्हीं दिनों में बरसा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। एक्सपर्ट का कहना है कि देश के कई हिस्सों में भारी बारिश की घटनाओं में वृद्धि का सीधा संबंध क्लाइमेट चेंज से है। दिल्ली में 2020 के मानसून सीजन में तीन बार भारी बारिश दर्ज की थी जबकि 2019 और 2018 में एक दिन भी भारी बारिश दर्ज नहीं की गई थी।

Delhi NCR Rains: दिल्ली-NCR में रात से हो रही तेज बारिश, ​2011 के बाद पहली बार इतना बरसे बादल

दिल्ली में भारी बारिश रविवार सुबह तक जारी रहेगी। यह दिल्ली-एनसीआर, पंजाब और राजस्थान को कवर करेगा। पूर्वी राजस्थान और बंगाल की खाड़ी के ऊपर बनने वाले सिस्टम के और तेज होने की संभावना है। दिल्ली में 17-18 सितंबर तक बारिश का नया दौर शुरू होगा।

आरके जेनामणि, सीनियर साइंटिस्ट, आईएमडी

कुल वर्षा का 60-70% हिस्सा भारी बारिश
आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा कि आमतौर पर दिल्ली में पूरे मौसम में भारी बरसात की एक या दो घटनाएं होती हैं। उन्होंने कहा कि इस साल ‘भारी बारिश’ के दिनों की संख्या पिछले वर्षों की तुलना में बहुत अधिक है। अधिकांश बरसात लगभग 60 से 70 प्रतिशत भारी बारिश से हुई है। राजधानी में जुलाई में तीन बार भारी बारिश दर्ज की गई। यह 19 जुलाई को 69.6 मिलीमीटर, 27 जुलाई को 100 मिलीमीटर और 30 जुलाई को 72 मिलीमीटर हुई।

rain data

क्लाइमेट चेंज का दिख रहा दबाव
आईएमडी के पूर्व महानिदेशक अजीत त्यागी ने कहा कि पिछले 30 वर्षों को देखने से पता चला है कि भारी बारिश की घटनाओं की संख्या में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि इसकी वजह प्राकृतिक परिवर्तनशीलता भी है। कोई भी दो मॉनसून समान नहीं होते हैं। यदि आप अतीत में 50 साल तक जाते हैं, तो सूखे के वर्ष और बाढ़ के वर्ष हुआ करते थे। क्लाइमेट चेंज किसी भी वेदर सिस्टम की के नेचुरल चेंज पर स्थान, समय और तीव्रता के लिहाज से दबाव को चिह्नित कर रहा है। हालांकि, सिर्फ कुछ घटनाओं को पूरी तरह से इसके लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।

delhi rain 2

पूरे सप्ताह होगी बारिश, रविवार को लिए ऑरेन्ज अलर्ट
मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि राजधानी में इस पूरे सप्ताह आंशिक रूप से बादल छाए रहने के साथ ही मध्यम बारिश और गरज के साथ छीटें पड़ने का अनुमान जताया है। मौसम विभाग की तरफ से रविवार के लिए ऑरेन्ज अलर्ट जारी किया गया है। शहर में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की भी संभावना है। राजधानी में अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।

navbharat times -Delhi Rains: कुछ घंटों की बारिश ने तोड़ा रेकॉर्ड, जलभराव के बाद जाम से बेहाल हुई दिल्ली
जलभराव के लिए खराब योजना जिम्मेदार
वेदर एक्सपर्ट त्यागी ने कहा कि दिल्ली और गुड़गांव जैसे शहरों में हालांकि 50 मिलीमीटर तक बारिश के कारण होने वाले भारी जलभराव को जलवायु संकट से नहीं जोड़ा जा सकता है। त्यागी ने कहा कि यह हमारी खराब योजना के कारण है। आने वाले समय में शहरों की योजना इस तरह से बनाई जानी चाहिए कि वे एक दिन में 150 मिमी से 200 मिमी बारिश का सामना करने में सक्षम हों।

दिल्ली-एनसीआर में भयंकर बारिश, रास्ते हुए बंद, एयरपोर्ट पहुंचना मुश्किल, ऑरेंज अलर्ट

भारी बारिश के बाद टूटा 46 साल का रिकॉर्ड
इस साल मॉनसून के अत्यधिक असामान्य मौसम में दिल्ली में अभी तक 1,100 मिलीमीटर बारिश हुई है। यह 46 वर्षां में सबसे अधिक तथा पिछले साल दर्ज की गयी बारिश से लगभग दोगुनी है। आईएमडी के अनुसार, सामान्य तौर पर दिल्ली में मानसून के मौसम के दौरान 648.9 मिमी बारिश दर्ज की जाती है। मानसून का मौसम शुरू होने पर एक जून से 11 सितंबर तक शहर में सामान्य तौर पर 590.2 मिमी बारिश होती है। मानसून 25 सितंबर तक दिल्ली से चला जाता है।
(एजेंसी इनपुट के साथ)

delhi rain



Source link