क्या फिर टलेगा बिहार निकाय चुनाव? सुशील मोदी ने ललन सिंह को SC का सुधारा आदेश दिखा कर दिया छपास का जवाब

0
163

क्या फिर टलेगा बिहार निकाय चुनाव? सुशील मोदी ने ललन सिंह को SC का सुधारा आदेश दिखा कर दिया छपास का जवाब

Bihar Nagar Nikay Chunav 2022: बिहार निकाय चुनाव लेकर जेडीयू और बीजेपी में बयानों का वार पलटवार जारी है। एक तरफ जहां सुशील कुमार मोदी के लगातार किए जा रहे वार के बाद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने उन्हें छपास का रोगी बताया। वहीं सुशील कुमार मोदी ने ललन सिंह ने कोर्ट का आदेश दिखा कर कई सवाल दाग दिए।

 

हाइलाइट्स

  • बिहार निकाय चुनाव पर फिर संकट के बादल
  • सुशील मोदी ने ललन सिंह को SC का सुधारा आदेश दिखाया
  • सुशील मोदी ने ललन सिंह को दिया छपास का जवाब
  • क्या फिर टलेंगे बिहार नगर निकाय चुनाव 2022?
नीलकमल, पटना:राज्य निर्वाचन आयोग ने बिहार निकाय चुनाव के नए तारीखों की घोषणा तो कर दी है। लेकिन बिहार के उपमुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी के मुताबिक निकाय चुनाव पर एक बार फिर स्थगित होने का खतरा मंडराने लगा है। यूं कहिए कि बिहार नगर निकाय चुनाव पर फिर से संकट के बादल छा गए हैं। JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह की ओर से छपास का रोगी बताए जाने के बाद सुशील कुमार मोदी ने एक के बाद एक दो ट्वीट कर उन्हें घेरा है। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ललन सिंह को कहा कि छपास की बीमारी किसे है यह सुप्रीम कोर्ट के आदेश को देखकर पता चल जाएगा।

ललन जी देख लीजिए, किसे छपास की बीमारी- सुशील मोदी

सुशील मोदी ने ललन सिंह को कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के पैरा 4 को देखिए, आपकी गलतफहमी दूर हो जाएगी। सुशील मोदी ने कहा कि देखिए इसमें Extremely Backward है कि नहीं ? उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने 28 नवंबर के आदेश में सुधार कर लिया है। सुशील मोदी ने ललन सिंह से यह भी पूछा कि अब सरकार क्या करेगी ? EBC कमीशन की रिपोर्ट का क्या होगा ? सुशील मोदी ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने 28 नवंबर के आदेश में संशोधन कर Economically को Extremely Backward कर दिया है। सुशील मोदी ने ललन सिंह से पूछा कि क्या अब सरकार EBC कमीशन को वापस लेगी ?
बिहार नगर निगम चुनाव: ‘नए उम्मीदवारों को निकाय चुनाव लड़ने से रोकना असंवैधानिक’, सुशील मोदी ने नीतीश को घेरा

सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को ही बताया था

सुशील कुमार मोदी ने बुधवार की सुबह ट्वीट कर यह जानकारी दी थी कि सुप्रीम कोर्ट ने 28 नवंबर को बिहार सरकार द्वारा डेडीकेटेड कमीशन पर रोक लगा दी है। अब नीतीश कुमार की जिद की वजह से बिहार का निकाय चुनाव कानूनी दांवपेच में फंस गया है। उन्होंने ‘टाइपो’ का जिक्र करते हुए कहा था कि अदालत के आदेश में गलती से Extremely Backward की जगह Economically Backward लिख दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने जल्दबाजी दिखाते हुए चुनाव की घोषणा कर दी। इसलिए एक बार फिर नीतीश सरकार की फजीहत होनी तय है।
navbharat times -निकाय चुनाव की घोषणा के बाद सुशील मोदी ने कहा, SC के आदेश में टाइपो, ललन सिंह ने बताया छपास का रोगी

ललन सिंह ने सुशील कुमार मोदी को बताया था छपास का रोगी

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने बुधवार को कहा था कि सुशील कुमार मोदी छपास रोग से बुरी तरह ग्रसित हैं। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से बिहार में निकाय चुनाव की तारीख की घोषणा करने के बाद ललन सिंह ने सुशील कुमार मोदी पर हमला बोला था । ललन सिंह ने सुशील कुमार मोदी को कहा था कि आप माननीय सर्वोच्च न्यायालय का आदेश भी नहीं पढ़ते हैं। उन्होंने सुशील कुमार मोदी को कहा कि आप आदेश का कंडिका 4 पढ़ लें। ललन सिंह ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने अति पिछड़े वर्ग के आयोग के गठन पर रोक नहीं लगाई है बल्कि आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के समर्पित आयोग के गठन पर रोक लगाई है। अब गुरुवार को सुशील कुमार मोदी ने ललन सिंह पर पलटवार करते हुए सुप्रीम कोर्ट के आदेश की कॉपी के साथ यह कहा कि छपास का रोगी कौन है अब यह बताने की जरूरत नहीं है।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News