कुढ़नी में कड़ी सुरक्षा के बीच वोटिंग आज, नीतीश-तेजस्वी की साख दांव पर, वीआईपी और AIMIM बिगाड़ेंगे खेल?

0
67

कुढ़नी में कड़ी सुरक्षा के बीच वोटिंग आज, नीतीश-तेजस्वी की साख दांव पर, वीआईपी और AIMIM बिगाड़ेंगे खेल?

ऐप पर पढ़ें

बिहार की कुढ़नी विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए सोमवार को मतदान होगा। विधानसभा क्षेत्र के 320 बूथों पर सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। 3.11 लाख वोटर उपचुनाव में मतदान करेंगे। मैदान में महागठबंधन, बीजेपी, वीआईपी, एआईएमआईएम समेत कुल 13 प्रत्याशी हैं। मतगणना 8 दिसंबर को होगी। मुख्य मुकाबला जेडीयू और बीजेपी के बीच है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की साख दांव पर लगी है। हालांकि, मुकेश सहनी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के उम्मीदवार भी खेल बिगाड़ सकते हैं।

रविवार देर शाम तक सभी बूथों के लिए चुनावकर्मियों को रवाना कर दिया गया। बूथों पर अर्द्धसैनिक बलों और जिला पुलिस की तैनाती की गई है। मतदान केंद्रों पर रवाना होने से पहले पोलिंग कर्मियों और जवानों को ईवीएम कोषांग में डीएम प्रणव कुमार एवं एसएसपी जयंतकांत ने दिशा-निर्देश दिए। निष्पक्ष चुनाव के लिए समन्वय बनाए रखने को कहा। डीएम ने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर सौ मीटर के दायरे में किसी भी अनधिकृत व्यक्ति का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। 64 केंद्रों पर माइक्रो ऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं। मतदान केंद्रों को 39 सेक्टर में बांटा गया है। सभी सेक्टर में मजिस्ट्रेट रहेंगे।

नीतीश-तेजस्वी की साथ दांव पर

कुढ़नी सीट महागठबंधन सरकार के लिए नाक का सवाल बनी हुई है। महागठबंधन में शामिल सभी दलों के नेताओं ने यहां जोर-शोर से प्रचार किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भी रैलियां की। तेजस्वी ने इमोशनल कार्ड खेलते हुए लोगों से कहा कि लालू यादव बीजेपी की वजह से बीमार पड़े और कुढ़नी में महागठबंधन को जिताएं, वे अपने आप स्वस्थ हो जाएंगे। पिछले चुनाव में यह सीट आरजेडी के पास थी। हालांकि इस बार जेडीयू की ओर से पूर्व मंत्री मनोज कुशवाहा को टिकट दिया गया है। उनका मुकाबला बीजेपी के केदार गुप्ता से होगा।

केदार पहले भी कुढ़नी से विधायक रह चुके हैं। खास बात ये है कि 2015 के विधानसभा चुनाव में केदार गुप्ता ने मनोज कुशवाहा को हराया था। बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में भी एनडीए के सभी बड़े नेताओं ने कुढ़नी में प्रचार किया। प्रचार के आखिरी दिन लोजपा (रामविलास) के मुखिया चिराग पासवान और एक्टर रवि किशन ने रैली की थी। 

मुकेश सहनी और ओवैसी बिगाड़ेंगे खेल?

कुढ़नी में मुकेश सहनी की वीआईपी और असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM के उम्मीदवार भी मैदान में हैं। मुकेश सहनी ने नीलाभ कुमार को मैदान में उतारा है, जो भूमिहार जाति से हैं। ऐसे में वे बीजेपी के भूमिहार और मल्लाह वोटर्स में सेंध मार सकते हैं। वहीं, AIMIM प्रत्याशी मुर्तजा अंसारी ने महागठबंधन के मुस्लिम वोटबैंक में सेंधमारी की तैयारी की है। पिछले महीने गोपालगंज सीट पर हुए उपचुनाव में भी ओवैसी की पार्टी ने महागठबंधन का खेल बिगाड़ा था।

 

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News