काश ऐसा नहीं हुआ होता… 1 ओवर में 6 छक्के खाने पर संन्यास के बाद बोले स्टुअर्ट ब्रॉड, छलका दर्द

2
काश ऐसा नहीं हुआ होता… 1 ओवर में 6 छक्के खाने पर संन्यास के बाद बोले  स्टुअर्ट ब्रॉड, छलका दर्द


काश ऐसा नहीं हुआ होता… 1 ओवर में 6 छक्के खाने पर संन्यास के बाद बोले स्टुअर्ट ब्रॉड, छलका दर्द

नई दिल्ली: इंग्लैंड क्रिकेट टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज ने एशेज सीरीज के बीच में ही अपनी रिटायरमेंट की घोषणा से सबको हैरान कर दिया। उन्होंने द ओवल में चल रहे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के पांचवें टेस्ट के बाद ब्रॉड क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लेंगे। स्टुअर्ट के करियर में कई उतार-चढ़ाव वाले दिन आए। लेकिन सबसे ज्यादा उनको परेशानी शायद तब हुई थी जब 2007 के टी20 वर्ल्डकप में युवराज सिंह ने उन्हें 6 गेंदों में 6 छक्के जड़े थे। हालांकि अब रिटायरमेंट की घोषणा करने के बाद ब्रॉड ने 6 छक्के खाने पर प्रतिक्रिया दी है।

वो बड़ा मुश्किल दिन था-स्टुअर्ट ब्रॉड

हां, यह स्पष्ट रूप से एक बहुत कठिन दिन था, मैं कितने साल का था , 21,22? मैंने बहुत कुछ सीखा, मैंने उस अनुभव के माध्यम से एक पूरा मेंटल रूटीन बनाया, यह जानते हुए कि मैं एक अंतरराष्ट्रीय परफॉर्मर के रूप में कुछ भी नहीं रह गया था। मैं अपनी तैयारी में जल्दबाजी करता था, मेरे पास कोई प्री-बॉल रूटीन नहीं था, मेरा फोकस नहीं था।

‘काश ऐसा नहीं हुआ होता’

स्टुअर्ट ब्रॉड ने अपने बयान में आगे इस बात का भी जिक्र किया कि काश युवराज सिंह ने उन्हें 6 छक्के नहीं मारे होते। काश ऐसा उनके करियर में कभी नहीं हुआ होता। स्टुअर्ट ने कहा, ‘मैंने अपना ‘वॉरियर मोड’ बनाना शुरू किया जिसे मैं उस अनुभव ( के बाद कहता हूं। काश ऐसा ना हुआ होता। किस बात ने वास्तव में मेरी मदद की कि वह एक डेड रबड़ था, इसलिए मुझे ऐसा नहीं लगा कि मैंने हमें विश्व कप से बाहर कर दिया है। लेकिन मुझे लगता है कि उस हादसे ने मुझे आज बेहतर कॉम्पिटिटर बनने के लिए मोटिवेट किया है और मुझे आगे बढ़ने में मदद की है।’

World Cup से पहले खतरे की घंटी, इन वजहों से हारी टीम इंडिया

स्टुअर्ट ब्रॉड ने बेन स्टोक्स का दिया उदाहरण

37 साल के स्टुअर्ट ब्रॉड ने आगे यह भी कहा कि करियर में आप काफी उतार-चढ़ाव भरे दिनों से गुजरते हैं। साथ ही उन्होंने इंग्लैंड टेस्ट टीम के कप्तान बेन स्टोक्स का भी उदाहरण दिया। स्टुअर्ट ने कहा, ‘आप बड़े उतार-चढ़ाव से गुजरते हैं और जब आप स्टोक्सी (बेन स्टोक्स) जैसे खिलाड़ी के करियर को देखते हैं तो उन्होंने भी ऐसा ही किया है। यह बाउंस बैक करने की एबिलिटी है, और खराब दिनों को पीछे छोड़ने में सक्षम होने की क्षमता है। निश्चित रूप से पिछले 15 या 16 वर्षों में मैं एक बात जानता हूं, वह यह है कि आपके क्रिकेट में अच्छे दिनों की तुलना में बुरे दिन अधिक होंगे, इसलिए आपको यह सुनिश्चित करने के लिए उनसे निपटना होगा कि आपके अच्छे दिन ग्रो हो सकें।’
Stuart Broad Retirement: कभी न हार मानने वाले को ब्रॉड कहते हैं… कभी युवराज से खाए थे 6 छक्के, महान बॉलर बनकर हुए रिटायर navbharat times -The Ashes: एशेज सीरीज के आखिरी टेस्ट के लिए इंग्लैंड ने घोषित की अपनी प्लेइंग इलेवन, जानें कौन हुआ बाहर? navbharat times -Stuart Broad Retirement: स्टुअर्ट ब्रॉड ने सभी को चौंकाया, एशेज सीरीज के बीच में किया संन्यास का ऐलान



Source link