कांग्रेस सेवादल का राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर माउंट आबू में, सेवादल की भूमिका पर होगा मंथन | National training camp of Congress Seva Dal in Mount Abu | Patrika News

0
101

कांग्रेस सेवादल का राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर माउंट आबू में, सेवादल की भूमिका पर होगा मंथन | National training camp of Congress Seva Dal in Mount Abu | Patrika News

प्रशिक्षण शिविर की मेजबानी करने का अवसर राजस्थान कांग्रेस सेवादल को दिया गया है। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में शामिल होंगे। इसके अलावा गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा भी शामिल होंगे। प्रशिक्षण शिविर में सभी राज्यों के सेवादल के प्रदेशाध्यक्ष, प्रदेश कार्यकारिणी और जिलाध्यक्षों को बुलाया गया है।

3700 किलोमीटर प्रस्तावित भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों पर होगी चर्चा
बताया जाता है कि कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में अक्टूबर माह में प्रस्तावित कांग्रेस की कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों पर चर्चा होगी, जिसमें भारत जोड़ो यात्रा किन किन राज्यों से होकर गुजरेगी और उसका क्या रोडमैप रहेगा उन तमाम मुद्दों पर चर्चा होनी है।

भारत जोड़ो यात्रा 3700 किलोमीटर लंबी है जो करीब 150 दिनों में पूरी होगी। दरअसल उदयपुर में हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय संकल्प शिविर में कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने का फैसला लिया गया था।

विधानसभा चुनाव में सेवादल की भूमिका पर भी मंथन
कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर में गुजरात और हिमाचल प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सेवा दल की भूमिका को लेकर भी चर्चा होगी। इन राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं को पर्य़वेक्षक की जिम्मेदारी दी जाएगी। इन दोनों राज्यों के साथ-साथ राजस्थान में भी सेवादल को अभी से ही चुनावी तैयारियां शुरू करने का टास्क दिया जाएगा।

Copy

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस सेवादल के प्रशिक्षण शिविर में संगठन की गतिविधियों को लेकर भी चर्चा होगी। कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी भाई देसाई कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं को अनुशासन और कल्चर का पाठ पढ़ाएंगे साथ ही केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं को सड़कों पर उतरने का आह्वान भी किया जाएगा।

कांग्रेस का अनुशासित संगठन माना जाता है सेवादल
इधर सेवादल को कांग्रेस का सबसे अनुशासित संगठन माना जाता है। यह संगठन सन 1929 को अस्तित्व में आया था, जिसमें कार्यकर्ताओं को बेहद अनुशासन में रहने का पाठ पढ़ाया जाता है और कांग्रेस की रीति नीति कल्चर का प्रचार प्रसार करने का जिम्मा भी कांग्रेस सेवादल को ही दिया जाता रहा है। बताया जाता है कि अगर कांग्रेस के रीति-नीति, कल्चर को समझना है तो फिर उसे सबसे पहले कांग्रेस सेवादल की ट्रेनिंग लेना जरूरी होता है।



राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News