कांग्रेस संगठन में बड़े बदलाव की तैयारी, 2018 के फॉर्म्यूले पर नई टीम बना रहे कमलनाथ, अनुभवी नेताओं को चुनाव में मिलेगी अहम जिम्मेदारी

0
26

कांग्रेस संगठन में बड़े बदलाव की तैयारी, 2018 के फॉर्म्यूले पर नई टीम बना रहे कमलनाथ, अनुभवी नेताओं को चुनाव में मिलेगी अहम जिम्मेदारी

Kamalnath New Team In MP: 2023 के विधानसभा चुनावों से पहले एमपी में कांग्रेस संगठन को चुस्त-दुरूस्त करने की कवायद शुरू हो गई है। प्रदेश कांग्रेस अक्ष्यक्ष 2018 के फॉर्म्यूले के आधार पर अपनी नई टीम बना रहे हैं जिसमें अनुभवी नेताओं को अहम जिम्मेदारियां दी जाएंगी। मौजूदा विधायकों और चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को नई टीम से बाहर रखा जाएगा।

 

हाइलाइट्स

  • मध्य प्रदेश कांग्रेस संगठन में बड़े पैमाने पर बदलाव की तैयारी
  • चुनावों के लिहाज से 40-45 लोगों की नई कार्यकारिणी बनेगी
  • विधायकों और चुनावी उम्मीदवारों को टीम से रखा जाएगा बाहर
भोपालः मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों के करीब 11 महीने पहले कांग्रेस संगठन में बड़े पैमाने पर बदलाव की तैयारी हो रही है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ अपनी टीम में बड़ा फेरबदल करने जा रहे हैं। प्रदेश में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बाद प्रदेश संगठन को चुस्त-दुरूस्त करने की कवायद शुरू की गई है। इसके जरिए प्रदेश कार्यकारिणी का आकार छोटा करने के साथ नॉन-परफॉर्मिंग नेताओं की छुट्टी भी की जाएगी। जानकारी के मुताबिक नई टीम अगले साल जनवरी तक अपना कामकाज संभाल लेगी और चुनाव की तैयारियों में लग जाएगी।

2018 का फॉर्म्यूला अपनाएंगे कमलनाथ

प्रदेश कांग्रेस की मौजूदा कार्यकारिणी में सदस्यों की संख्या 150 से ज्यादा है। इसमें उपाध्यक्ष, महासचिव, सचिव सहित अन्य पदाधिकारी शामिल हैं। नई टीम में इनकी संख्या करीब आधी रह जाएगी। नई टीम में अनुभवी नेताओं को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी जाएंगी। कमलनाथ ने 2018 में भी अपनी टीम में अनुभवियों को जगह दी थी जो काफी सफल रही थी।

चुनाव लड़ने वालों को संगठन में जगह नहीं

2023 में चुनाव लड़ने वालों को संगठन में कोई जिम्मेदारी नहीं दी जाएगी। नई टीम में भारत जोड़ो यात्रा का असर भी देखने को मिलेगा। संगठन के मौजूदा पदाधिकारियों को यात्रा के दौरान महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी गई थीं, लेकिन खंडवा और बुरहानपुर से कई शिकायतें मिली हैं। कमजोर परफॉर्मेंस वाले पदाधिकारियों को भी टीम से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

बड़े नेताओं की भी होगी छुट्टी

प्रदेश कांग्रेस के छह में से पांच महामंत्री विधायक भी हैं। उन्हें महामंत्री पद से हटाया जा सकता है। कमलेश्वर पटेल और नर्मदा प्रसाद प्रजापति वरिष्ठ उपाध्यक्ष हैं। दोनों फिलहाल विधायक हैं और अगला विधानसभा चुनाव भी लड़ेंगे। उन्हें भी संगठन की जिम्मेदारियों से मुक्त किया जाएगा।
जीतू पटवारी, बाला बच्चन, रामनिवास रावत और सुरेंद्र चौधरी कार्यकारी अध्यक्ष हैं और चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। उनकी भूमिकाएं भी बदले जाने की संभावना है। इसी तरह, डॉ. गोविंद सिंह नेता प्रतिपक्ष और पार्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी हैं। उन्हें उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी से मुक्त किया जा सकता है। हालांकि, बड़े नेताओं के बारे में कोई भी फैसला पार्टी आलाकमान की सहमति से लिया जाएगा।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News