कांग्रेस ने ढहाया 18 साल पुराना भाजपा का किला, बंपर जीत के बाद शहर में ‘जगत’ राज | congress demolished 18 year old BJP fort in jabalpur mayor | Patrika News

0
128

कांग्रेस ने ढहाया 18 साल पुराना भाजपा का किला, बंपर जीत के बाद शहर में ‘जगत’ राज | congress demolished 18 year old BJP fort in jabalpur mayor | Patrika News

उधर, मध्यप्रदेश में शहर सरकार की तस्वीर साफ हो गई है। पहले चरण के नतीजों में नगर निगम की 11 में से 7 सीटें भाजपा के खाते में गई हैं। वर्ष 2014-15 के चुनाव में पहले चरण वाली सभी 11 नगर निगमों में भाजपा के महापौर थे। इस बार भोपाल, इंदौर, बुरहानपुर, उज्जैन, सतना, सागर, खंडवा नगर निगम में भाजपा को जीत मिली है। तीन सीटें कांग्रेस के खाते में गईं। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाली ग्वालियर नगर निगम में कांग्रेस ने 57 वर्ष बाद जीत दर्ज की। कमलनाथ के गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा ननि के गठन के बाद कांग्रेस को पहली बार जीत मिली है। सिंगरौली में ‘आप’ उम्मीदवार रानी अग्रवाल ने जीत दर्ज की है। इंदौर में विधायक संजय शुक्ला, सतना में विधायक सिद्धार्थ कुशवाह और उज्जैन में महेश परमार चुनाव हार गए।

कांग्रेस के तीन विधायकों की महापौर बनने की चाह रही अधूरी, शुक्ला, कुशवाह और परमार को मिली हार

18 साल बाद जबलपुर नगरनिगम की सत्ता में कांग्रेस की वापसी हुई जरूर है, पर नगर सरकार को चलाना आसान नहीं होगा। महापौर पद पर बंपर जीत के बाद भी परिषद में भाजपा को बहुमत मिला है। ऐसे में प्रस्ताव पास कराने से लेकर सियासी फैसलों में आसानी नहीं होगी। नर्मदा तीरे कांग्रेस सरकारकांग्रेस के जगत बहादुर ने भाजपा के डॉ. जितेंद्र जामदार को 44,339 मतों से हराया।

यह भी पढ़ें- क्यों इतने कम अंतर से हुआ भाजपा-कांग्रेस के बीच हार-जीत का फैसला ? ये हैं बड़े कारण

Copy

जानते हैं जीत के 5 कारण …।

-भाजपा के 18 साल के कार्यकाल के प्रति जनता मेें सत्ता विरोधी लहर।

-जनता के बीच कांग्रेस उम्मीदवार की लगातार सक्रियता रही।

-दो वर्ष पहले से महापौर के लिए तैयारी, 6 माह पहले संगठन की कमान मिली।

-कांग्रेस नगर अध्यक्ष के कार्यकाल में पार्टी के सभी गुटों में संतुलन साधा।

-जनता के बीच अच्छी छवि, सीधा संपर्क, संगठन का पूरा सहयोग।

जानिए अपने महापौर को

नाम : जगत बहादुर (कांग्रेस)

उम्र: 50 वर्ष, शिक्षा: बी.कॉम

संपत्ति: कुल संपत्ति 3 .65 करोड़ रुपए, आल्टो कार, 30 तोला सोना, 15 किलो चांदी

परिवार: पत्नी- यामिनी सिंह, पुत्र- जयदित्य सिंह

पत्नी यामिनी सिंह भी वर्ष 2009 से 2014 तक पार्षद रहीं।

राजनीतिक परिचय: वर्ष 2004 से 2009 तक पार्षद रहे। नगर कांग्रेस में प्रवक्ता, नगरउपाध्यक्ष, नगर निगम में सांसद प्रतिनिधि, कार्यकारी नगर अध्यक्ष, अभी नगर कांग्रेस अध्यक्ष

44 पार्षद भाजपा, 26 कांग्रेस, 9 अन्य

बड़ा हादसा- नर्मदा नदी में गिरी बस, अभी तक निकाले जा चुके 13 शव, देखें वीडियो



उमध्यप्रदेश की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Madhya Pradesh News