कल कहां थी पुलिस? दिल्ली के गर्ल्स कॉलेज में ताकाझांकी पर उबल पड़ीं छात्राएं

22
कल कहां थी पुलिस? दिल्ली के गर्ल्स कॉलेज में ताकाझांकी पर उबल पड़ीं छात्राएं

कल कहां थी पुलिस? दिल्ली के गर्ल्स कॉलेज में ताकाझांकी पर उबल पड़ीं छात्राएं

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस शर्म करो, कॉलेज प्रशासन हाय-हाय, दिल्ली पुलिस कल कहां थी? कॉलेज प्रशासन जवाब दो… दिल्ली के वीमेंस आईपी कॉलेज के बाहर बुधवार को कुछ छात्राएं चीख-चीख इंसाफ मांगती दिखीं। दरअसल, मंगलवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के वीमेंस आईपी कॉलेज के फेस्ट में कुछ बाहरी कॉलेज के स्टूडेंट्स दीवार फांदकर कॉलेज के अंदर जबरदस्ती घुस गए थे। आरोप है कि इस दौरान कॉलेज की कुछ छात्राओं के साथ इन स्टूडेंट्स ने बदसलूकी की। इस बदसलूकी के विरोध में बुधवार को आइसा ओर क्रांतिकारी युवा संगठन की छात्राओं ने दिल्ली पुलिस और कॉलेज प्रशासन के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में शामिल एक छात्रा ने कहा कि ‘आज छात्राओं के विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए कॉलेज प्रशासन ने पुलिस फोर्स, वैन और बैरिकेड्स लगा रखे हैं। मंगलवार को जब कॉलेज में हंगामा हो रहा था तब कोई पुलिस क्यों नहीं थी। कॉलेज के प्रिंसिपल को जवाब देना होगा कि कल फेस्ट के दौरान छात्राओं के साथ बदसलूकी और हंगामा होने के बावजूद फेस्ट को क्यों नहीं रोका गया? जिन लोगों ने छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की है, उन लोगों की पहचान होने के बावजूद अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है।’

क्या है मामला

दिल्ली विश्वविद्यालय के वीमेंस आईपी कॉलेज में मंगलवार को शताब्दी वर्ष पर फेस्ट कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आरोप है कि इस दौरान बाहरी छात्रों ने जबरन कॉलेज में घुसकर छात्राओं के साथ बदसलूकी करते हुए छेड़छाड़ भी की। कॉलेज छात्राओं का आरोप है कि बाहरी छात्रों ने कॉलेज की छात्राओं के साथ झगड़ा भी किया, जिसमें कुछ छात्राओं को चोट आई और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया । जिसके विरोध में आज बुधवार को क्रांतिकारी युवा संगठन, आईसा और जेएनयू के छात्राओं ने कॉलेज के बाहर आकर प्रदर्शन करते हुए दिल्ली पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए । प्रदर्शनकारी छात्राओं ने कहा कि देश में महिला सशक्तिकरण और महिलाओं की सुरक्षा की बात की जाती है ।

‘दिल्ली पुलिस सुरक्षा करने में नाकाम’

प्रदर्शन में शामिल छात्राओं ने कहा कि दिल्ली पुलिस महिलाओं की सुरक्षा करने में नाकाम रही है, इसी का नतीजा है कि विमेंस कॉलेज में फेस्ट कार्यक्रम के दौरान बाहरी छात्रों की एंट्री होती है, जिससे अराजकता फैलती है। इसी का नतीजा है कि फेस्ट कार्यक्रम के दौरान विमान आईपी कालेज में भी बाहरी छात्रों ने घुसकर अव्यवस्था की और बड्सलूकी करते हुए छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की। जिससे महिलाओं में डर और असुरक्षा का माहौल बना हुआ है। बीते अक्टूबर माह में फेस्ट कार्यक्रम के दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय के ही मिरिंडा कॉलेज में भी असामाजिक तत्व के लोगों और बाहरी छात्रों में घुसकर कॉलेज की छात्राओं के साथ बदसलूकी की थी। जिसके विरोध में कार्यक्रम को रोका गया, लेकिन दिल्ली पुलिस लगातार महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण का दावा करती है। उसके बावजूद भी दिल्ली पुलिस महिलाओं को सुरक्षा देने में नाकाम साबित हो रही है ।

कई छात्राएं हुईं विरोध प्रदर्शन में शाामिल

बड़ी संख्या में आईपी कॉलेज के बाहर प्रदर्शन करने पहुंची छात्राओं ने सड़क पर बैठकर दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की। दिल्ली पुलिस ने सख्ती बरतते हुए प्रदर्शनकारी छात्राओं को डिटेन करते हुए बस में भरकर सिविल लाइंस थाने ले जाया गया।

(रिपोर्ट-नवीन निश्चल)

दिल्ली की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News