कलंक कथा: आलीशान मकान, जमीनें, गहने, बैंक में 80 लाख रुपये… BMSICL के जीएम ने टेंडर से की अवैध कमाई

0
43

कलंक कथा: आलीशान मकान, जमीनें, गहने, बैंक में 80 लाख रुपये… BMSICL के जीएम ने टेंडर से की अवैध कमाई

बिहार मेडिकल सर्विसेज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर कॉरपोरेशन लिमिटेड (BMSICL) के महाप्रबंधक (जीएम) संजीव रंजन पर विशेष निगरानी इकाई का शिकंजा कसता जा रहा है। बुधवार को आशियाना नगर स्थित बैंक लॉकर को खोला गया। लॉकर में सोने के कई आभूषण मिले, जिसकी कीमत लगभग 15 लाख रुपए है। वहीं पति-पत्नी के बैंक खातों में जमा रकम भी 80 लाख पहुंच गई है।

आय से अधिक संपत्ति मामले में एसवीयू ने संजीव रंजन के तीन ठिकानों पर मंगलवार को छापेमारी की थी। एसवीयू ने उनके खिलाफ आय से 1,76,72,907 रुपए अधिक की संपत्ति का एफआईआर दर्ज की। मगर छापेमारी में मिले दस्तावेजों से कई गुना ज्यादा संपत्ति मिली। विशेष निगरानी इकाई के मुताबिक संजीव रंजन और उनकी पत्नी के नाम पर कई चल-अचल संपत्तियां हैं। इसमें पटना में एक फ्लैट के अलावा आलीशान मकान भी शामिल हैं।

वहीं बाढ़ के बाजितपुर में 91 डिसमिल जमीन के अलावा लीज पर ली गई जमीन भी है। बेंगलुरु में भी फ्लैट है जिसे किराये पर लगाया गया है। वहीं रांची में एक फ्लैट और आवासीय भूखंड भी पत्नी के नाम पर खरीदी गई है। 

पति-पत्नी के खाते में 40-40 लाख जमा

एसवीयू के मुताबिक अबतक की जांच में संजीव रंजन और उनकी पत्नी के बैंक खातों में 40-40 लाख रुपए जमा पाए गए हैं। छापेमारी के समय तक 50.5 लाख रुपये ही बैंक खातों में होने की जानकारी मिल पाई थी। हालांकि अब यह रकम 80 लाख के करीब पहुंच गई है। संजीव रंजन की चल-अचल संपत्ति करीब 8 करोड़ रुपये की है।

टेंडर से हुई अवैध कमाई

एसवीयू के मुताबिक संजीव रंजन ने ठेके से काफी कमाई की। चिकित्सा क्षेत्र में आधारभूत संरचनाओं के टेंडर देने में हुई कमाई से उन्होंने कई संपत्तियां अर्जित की। जांच एजेंसी को उम्मीद है कि अनुसंधान के दौरान उनकी संपत्ति का दायरा और भी बढ़ सकता है। 

सहायक उद्यान निदेशक के लॉकर में मिले 38 लाख के जेवर

आय से अधिक संपत्ति मामले में ईओयू की जद में मुजफ्फरपुर के सहायक उद्यान निदेशक शंभू प्रसाद से जुड़े तीन बैंक लॉकर को भी बुधवार को खोला गया। जांच से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक दो बैंक लॉकर मिले हैं। इनमें एक में जेवरात मिले हैं, जिसकी कीमत करीब 38 लाख रुपए आंकी गई है। वहीं एक बैंक लॉकर खाली था। मंगलवार को ही शंभू प्रसाद के चार ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। इसमें पटना में मकान और फ्लैट के अलावा तीन भूखंड और बैंक व वित्तीय संस्थानों में जमा लाखों रुपए का खुलासा हुआ था। अबतक की जांच में शंभू प्रसाद के पास 5 करोड़ रुपये से अधिक की चल-अचल संपत्ति पाई गई है।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News