औरंगाबाद : 12 साल के बच्चे को बार-बार डंस रहा एक ही सांप, 15 दिनों में 3 बार काटा, जानिए पूरा मामला

0
115

औरंगाबाद : 12 साल के बच्चे को बार-बार डंस रहा एक ही सांप, 15 दिनों में 3 बार काटा, जानिए पूरा मामला

औरंगाबाद : फिल्मों में देखने को मिलता है कि नाग-नागिन बदला लेते हैं। पीछा करते हैं। काटते हैं। औरंगाबाद जिले में भी लोग कुछ इसी तरह की एक घटना से लोग आश्चर्य में हैं। अजीबोगरीब मामला सामने आया है। 12 साल के बच्चे को एक ही सांप बार-बार डंस रहा है। पिछले 15 दिनों में तीन बार काट चुका है। ऐसा घरवालों का दावा है। परिवारवालों ने बताया कि तीनों ही बार बच्चे का इलाज कराया गया। इलाज के बाद वो ठीक भी हो गया। बच्चे को घर से दूर उसके बुआ के घर भेज दिया गया है।

सांप के डंसने से परिवार में दहशत
परिजनों का कहना है कि अगर बच्चा घर पर रहा तो एक बार फिर सांप उसे डंस सकता है। औरंगाबाद के मुफफ्सिल थाना क्षेत्र के एक गांव का मामला है। यहां के रहनेवाले रंजीत भगत का 12 साल का बेटा नीरज बार-बार सांप के डंसे जाने से परेशान है। परिवार में दहशत का माहौल है। डर का आलम ये है कि परिवारवालों ने बच्चे को बचाने के लिए उसे बुआ के घर जहानाबाद भेज दिए।

दो सप्ताह में तीन बार सांप ने डंसा
2-13 जुलाई के बीच एक ही सांप 3 बार डंस चुका है। बच्चे के दादा फेकन भगत ने बताया कि 2 जुलाई को उनके पोते नीरज को घर के बाहर ही करैत सांप ने डंस लिया था। नीरज के चीखने पर जबतक लोग पहुंचे तब तक सांप भाग निकला। ये पहली बार था, जब लोगों ने बच्चे को काटने वाले सांप को देखा। उधर, बच्चा चीख-चीख कर बेहोश हो गया। आनन फानन में परिजन उसे इलाज के लिए औरंगाबाद सदर अस्पताल लेकर गए। डॉक्टरों ने प्रारंभिक उपचार के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल, गया रेफर कर दिया। वहां से इलाज के बाद लौटने के 2 दिन बाद ही फिर से उसे खेलने के दौरान किसी जीव ने काटा। हालांकि इस बार उसे कोई देख नहीं सका। वहीं बच्चे का कहना है कि वो वही सांप था। लेकिन लोग बिच्छू काटने की भी बात कह रहे हैं। इसके बाद घरवालों ने झाड़-फूंक कराया और बच्चे को ठीक हुआ मान लिया गया।

गांव वालों ने मारने से मना किया
कुछ दिनों बाद बच्चे को फिर से सांप ने डंस लिया। बच्चे के दादा के अनुसार उस सांप को हमने एक-दो बार देख भी लिया था लेकिन कुछ लोगों ने कहा कि 2 बार बच्चे को काट दिया है। कुछ कारण जरूर होगा, सांप को मत मारो। हालांकि ठीक 8 दिन बाद 13 जुलाई को नीरज को फिर से सांप ने डंस लिया। इस बार वो अकेले छत पर सो रहा था। तभी तेज आवाज कर चिल्लाने लगा कि उसे वही काले वाले सांप ने काट लिया है। बोलते-बोलते वो बेहोश हो गया। थोड़ी ही देर में मुंह से झाग निकलने लगा। इस बार फिर परिवार के लोग उसे फिर से औरंगाबाद सदर अस्पताल ले गए। इलाज़ के बाद वो ठीक तो हो गया, लेकिन अब परिवारवालों ने उसे घर से बाहर भेज दिया।

बच्चे को बुआ के घर भेजा गया

सांप काटने का ये मामला पूरे इलाके में फैल गया। लोगों ने सलाह दी कि बच्चे को कुछ दिनों के लिए बाहर भेज दिया जाए। इसके बाद ही उसे जहानाबाद में उसकी बुआ के घर भेज दिया गया। सोमवार को जहानाबाद से खबर आई कि बच्चे के शरीर में ऐंठन हो रही है। इस मामले में लोगों का कहना है कि वो काफी डर गया है। इसलिए ऐसी हरकत कर रहा है। बहरहाल बच्चा जहानाबाद में अपनी बुआ के घर पर है। मगर पूरा परिवार दहशत के साए में जरूर है।

Copy

रिपोर्ट- आकाश कुमार

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News