एडमिशन लेकर गायब स्टूडेंट्स पर एक्शन की तैयारी, शिक्षकों के बाद अब छात्रों पर सख्त हुए केके पाठक

19
एडमिशन लेकर गायब स्टूडेंट्स पर एक्शन की तैयारी, शिक्षकों के बाद अब छात्रों पर सख्त हुए केके पाठक

एडमिशन लेकर गायब स्टूडेंट्स पर एक्शन की तैयारी, शिक्षकों के बाद अब छात्रों पर सख्त हुए केके पाठक

पटना: बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ( IAS KK Pathak ) लगातार अपने फैसलों के लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। उन्होंने शिक्षा विभाग में एंट्री के साथ पहले शिक्षकों को लेकर जरूरी दिशा निर्देश जारी किए। यही नहीं अब वो स्कूलों में अचानक निरीक्षण के लिए भी पहुंचने लगे हैं। इसी बीच बिहार शिक्षा विभाग ने अब छात्रों को लेकर अहम आदेश जारी किया है। केके पाठक की ओर से जारी ऑर्डर के मुताबिक, स्कूल के अलावा विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में छात्र-छात्राओं की 75 फीसदी उपस्थिति की अनिवार्यता होगी। 75 पर्सेंट से कम अटेंडेंस होने पर सख्त कार्रवाई हो सकती है। स्टूडेंट्स के नामांकन भी रद्द किए जा सकते हैं।

36 से ज्यादा स्टूडेंट्स पर एक्शन

शिक्षा विभाग की ओर से इस आदेश का असर बिहार में दिखने भी लगा है। कई विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों ने लगातार अनुपस्थित रहने वाले छात्रों के नामांकन रद्द करना शुरू कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के सीएम साइंस कॉलेज ने 36 से ज्यादा स्टूडेंट्स के नामांकन रद्द किए हैं। इन छात्रों ने कॉलेज में एडमिशन तो लिया लेकिन क्लास में उनकी उपस्थिति नहीं मिली। शिक्षा विभाग को इसकी रिपोर्ट मिली, जिसके बाद इन छात्रों पर कार्रवाई की गई।

VC अप्वाइंटमेंट पर शिक्षा विभाग के हालिया फैसले को लेकर घमासान, बिहार सरकार और राजभवन के बीच क्यों ठन गई जानिए

इन यूनिवर्सिटी में भी कार्रवाई तेज

वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, जयप्रकाश विश्वविद्यालय, बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में छात्रों की अनुपस्थिति को लेकर ऐसी ही कार्रवाई की गई। इनके अलावा कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय, बीएन मंडल विश्वविद्यालय, तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय और मुंगेर विश्वविद्यालय में छात्रों के नामांकन रद्द किए गए। मगध यूनिवर्सिटी ने भी छात्रों की 75 फीसदी उपस्थिति के फैसले पर फोकस बढ़ाया है।

पटना की खबरों को वॉट्सऐप पर पढ़ने के लिए नवभारत टाइम्स के ग्रुप से जुड़ें

navbharat times -Bihar: एक ही स्थान पर 3 साल से जमे गैर शिक्षण कर्मचारी सावधान, केके पाठक का फरमान, शिक्षा विभाग जल्द करेगा तबादला

छात्रों के परिजनों को भेजा रहा नोटिस

मगध विश्वविद्यालय ने इससे जुड़े और संबद्ध कॉलेजों को छात्रों की अटेंडेंस पर खास ध्यान रखने के सख्त निर्देश दिए हैं। उनके आदेश पर कॉलेज प्रशासन ने भी कार्रवाई तेज कर दी है। जानकारी के मुताबिक, शिक्षा विभाग केवल यूनिवर्सिटी को ही इसे लेकर गंभीर होने के निर्देश नहीं दिए हैं। छात्रों के अभिभावकों को भी नोटिस भेजा जा रहा। उन्हें अपने बच्चों को कॉलेज भेजने की अपील की जा रही है। लगातार अनुपस्थित रहने वाले छात्रों के नामांकन रद्द किए जा रहे हैं।

बिहार की और खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Delhi News