इस गोल्ड का स्वाद कुछ और है.. पाक पहलवान को पटकते हुए दीपक पूनिया ने निकाली ओलिंपिक की कसर

0
137


इस गोल्ड का स्वाद कुछ और है.. पाक पहलवान को पटकते हुए दीपक पूनिया ने निकाली ओलिंपिक की कसर

Deepak Punia Gold Medal: तोक्यो ओलिंपिक में चंद सेंकेड्स के भीतर मेडल से चूकने वाले दीपक पूनिया नए जोश के साथ कॉमनवेल्थ पहुंचे थे। बड़े स्टेज पर वह अक्सर गोल्ड से रह जाते हैं, लेकिन आज हरियाणा के इस लाल का दिन था।

Copy

 

नई दिल्ली: खेल कोई भी हो, जब भारत-पाकिस्तान भिड़ते हैं तो दोनों देशों में तापमान अपने आप बढ़ जाता है। बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में दीपक पूनिया ने पाकिस्तानी पहलवान मोहम्मद इनाम बट (Deepak Punia vs Inam Butt) को पटकते हुए गोल्ड मेडल जीता तो पड़ोसी देश में कई टीवी सेट्स फिर टूटे होंगे। खेलों के 8वें दिन यानी शुक्रवार देर रात दीपक ने 86 किलोग्राम फ्री स्टाइल कैटेगरी में अपने पाकिस्तानी प्रतिद्वंद्वि को 3-0 से धूल चटाई। यह कुश्ती का तीसरा तो ओवरऑल 9वां गोल्ड मेडल था। इससे पहले बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक ने भी अपनी-अपनी कैटेगरी में सोना जीता था।

ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल से चूके थे

तोक्यो ओलिंपिक में पूनिया ने सैन मारिनो के पहलवान माइलेस नाजिम अमीन के खिलाफ शुरुआत में बढ़त भी ले ली थी, लेकिन आखिरी के 10 सेकंड में अमीन ने बाजी पलटते हुए भारतीय पदक की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था। पदक चूकने से वह एकदम टूट से गए थे। हाल ही में एशियन चैंपियनशिप में भी पूनिया गोल्ड से चूके थे। मगर अब सारी कसर पूरी कर ली।

डेयरी किसान के बेटे हैं दीपक

दीपक पुनिया का जन्म हरियाणा के झज्जर क्षेत्र में हुआ था। झज्जर गांव में कुश्ती हमेशा लोगों के लिए एक विकल्प है। दीपक के पिता सुभाष पुनिया एक डेयरी किसान हैं जो युवा दीपक को दंगल पर ले जाते थे। दीपक ने अपने कुश्ती करियर की शुरुआत पांच साल की उम्र में अपने गृहनगर अर्जुन अवार्डी वीरेंद्र सिंह छारा के नेतृत्व वाले एक अखाड़े में की थी। साल 2015 में छत्रसाल स्टेडियम के जाने-माने पहलवान के नेतृत्व में ट्रेनिंग शुरू करने के बाद उन्होंने सबसे पहले वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप का हिस्सा बनकर अपना हुनर दिखाया हालांकि सफलता नहीं मिली लेकिन फिर भी हार नहीं मानी।

navbharat times -Bajrang Punia: जियो रे बाहुबली… पहलवान बजरंग पूनिया ने CWG में जीता लगातार दूसरा गोल्ड मेडलnavbharat times -Anshu Malik: अंशु मलिक को सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष, फाइनल में करारी टक्कर देकर हारीं

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : Hindi News from Navbharat Times, TIL Network



Source link