आयुष्मान खुराना को पापा से पड़ी है कसकर पिटाई, बोले- नॉर्थ में चप्पल खाए बिना परवरिश नहीं होती

0
156

आयुष्मान खुराना को पापा से पड़ी है कसकर पिटाई, बोले- नॉर्थ में चप्पल खाए बिना परवरिश नहीं होती

आयुष्मान खुराना अपनी कई सारी फिल्मों को लेकर इस पूरे साल चर्चे में बने रहे। हाल ही में उनकी एक और फिल्म आई है एन एक्शन हीरो। इसमें उनकी खूब तारीफ हो रही है। फिल्म वैसे रिलीज के बाद से अब तक बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई है लेकिन लोग इसे पसंद कर रहे हैं। आयुष्मान खुराना ने शेयर किया है कि उनकी बढ़ती जिंदगी के दौरान उनके माता-पिता ने उन्हें काफी बुरी तरह मारा था। उन्होंने खुलासा किया कि उनके पिता ज्योतिषी पी खुराना काफी सख्त थे। एक्टर ने मजाकिया अंदाज में यह भी कहा कि उत्तर में भारतीय माता-पिता आमतौर पर अपने बच्चों की पिटाई करते हैं क्योंकि यह परवरिश का हिस्सा है। उन्होंने बॉम्बे में अपने संघर्ष के दिनों के बारे में बात की, रियलिटी शो रोडीज़ का हिस्सा बनने से लेकर, एक एक्टर के रूप में फिल्मों में संघर्ष के दिनों तक रेडियो पर काम करते हुए, ये सबकुछ कैसा था।

आयुष्मान खुराना की जर्नी

2004 में रोडीज़ का दूसरा सीज़न जीतने के बाद आयुष्मान (Ayushmann Khurrana) काफी फेमस हो गए और उन्होंने एंकरिंग में अपना करियर शुरू किया। 2012 में उन्होंने ‘विक्की डोनर’ से बॉलीवुड में डेब्यू किया। अपनी फेम जर्नी के बारे में और अपने संघर्ष के दिनों के बारे में बात करते हुए उन्होंने उस समय को याद किया जब वह एक नए इंटरव्यू में काम के लिए बंबई में उतरे थे।

An Action Hero Twitter Review: आयुष्मान की एक और डिजास्टर? जानें ‘एन एक्शन हीरो’ को पब्लिक ने पास किया या फेल

शाहरुख खान से इंस्पायर आयुष्मान

‘द बॉम्बे जर्नी’ पर सिद्धार्थ आलम्बयन के साथ बातचीत में आयुष्मान ने बताया कि कैसे उन्हें काम मिला। जब आयुष्मान से पूछा गया कि चंडीगढ़ से बॉम्बे आने पर उनके दिमाग में क्या था, तो आयुष्मान ने कहा, ‘मेरा भी शाहरुख खान वाला पल हुआ था कि जब मैं आया था मुंबई नया नया, सोचा था जब तक मुझे काम नहीं मिलेगा मैं समंदर की तरफ देखूंगा नहीं, मैं बीच मैं नहीं जाऊंगा। 3-4 दिन में मुझे एक रेडियो स्टेशन से कॉल आया।’

navbharat times -Jaideep Ahlawat: जयदीप अहलावत ने कहा- पैसे अगर अच्छे मिलें तो खराब फिल्में भी कर सकता हूं

नॉर्थ में बच्चों को चप्पल पड़ती है

आयुष्मान ने बताया कि उनके पिता बहुत सख्त थे और बचपन में उन्हें बुरी तरह पीटा जाता था। उन्होंने मजाक भरे लहजे में कहा, ‘नॉर्थ में जिसने मां बाप से थप्पड़ न खाया हो, चप्पल न खाई हो, तो वो परवरिश हो ही नहीं सकती।’ उन्होंने अपने पिता के बारे में एक कहानी भी शेयर की, जो बॉम्बे आए और किसी को बताया कि उनका बेटा एक बड़ा स्टार बनेगा। जबकि आयुष्मान को इस घटना के बारे में पता नहीं था, उन्होंने कहा कि बाद में उन्हें डर था कि अगर वह ये नहीं बन गए तो क्या होगा।

navbharat times -Ayushmann: शाहरुख के घर के बाहर भीड़ में आयुष्मान खुराना को देख हैरान हो गए फैन्स, सारे कैमरे उनकी तरफ मुड़ गए

आयुष्मान खुराना की फिल्में

2 दिसंबर को आयुष्मान की फिल्म ‘एन एक्शन हीरो’ रिलीज हुई। फिल्म को सिनेमाघरों में बहुत सुस्त शुरुआत मिली। फिल्म का निर्देशन अनिरुद्ध अय्यर ने किया है, जो पहले आनंद एल राय की ‘तनु वेड्स मनु रिटर्न्स (2011)’ और ‘जीरो (2018)’ में असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में काम कर चुके हैं। नीरज यादव ने कहानी लिखी है। इसमें आयुष्मान के साथ जयदीप अहलावत हैं।