आमिर खान कभी गिव अप नहीं करते: गीतिका | Gitikka ganju dhar in Udaipur | Patrika News

0
103

आमिर खान कभी गिव अप नहीं करते: गीतिका | Gitikka ganju dhar in Udaipur | Patrika News


जयपुर. टीवी और स्टेज एंकर के तौर पर गीतिका गंजू धर की एक खास पहचान है। बतौर एंकर अपने शब्दों से जादू बिखेरने वाली गीतिका अब आमिर खान की आगामी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ में एक्टिंग करती नजर आएंगी। एक प्रोजेक्ट के सिलसिले में उदयपुर आईं गीतिका इस बात को लेकर एक्साइटेड हैं कि उन्हें आमिर की फिल्म में काम करने का मौका मिला है। वह कहती हैं, ‘मैं इस बात से खुश हूं कि आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’ का पार्ट हूं। मैं फिलहाल अपने रोल के बारे में तो ज्यादा जानकारी नहीं दे सकती, पर इतना जरूर कहूंगी कि इस फिल्म की शूटिंग के दौरान मुझे बहुत कुछ नया सीखने को मिला।’ आमिर के बारे में गीतिका का कहना है, ‘आमिर खान के लिए लोग परफेक्शनिस्ट वर्ड यूज करते हैं। मेरा मानना है कि हर फिल्म का एक विजन होता है। आमिर बहुत स्पष्ट रूप से फिल्म के उस विजन को समझते हैं। जो उस फिल्म की जरूरत है, उसको पूरा करने में आमिर जी जान लगा देते हैं। वे कभी गिव अप नहीं करते।’
अपने कॅरियर की जर्नी को लेकर गीतिका का कहना है, मैं 22 साल से एंकरिंग कर रही हूं। मैंने टीवी और लाइव इवेंट के लिए एंकरिंग की है। मैं ऐसे लार्ज फॉर्मेट इवेंट करती हूं, जिनका हैप्पी वर्किंग एटमॉस्फेयर होता है। इनमें कॉरपोरेट और गवर्नमेंट के लिए इवेंट भी शामिल हैं। मेरी प्राथमिकता अच्छी क्वालिटी और कॉन्टेंट बेस्ड इवेंट हैं। जब मेरी बेटी का जन्म हुआ तो मुझे टीवी के लिए काम करना रोकना पड़ा। मैं पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में बैलेंस करके चलती हूं। गीतिका प्रशिक्षित डांसर भी हैं। वह कहती हैं, मैं इतने साल से काम कर रही हूं, लेकिन इस बीच डांस के लिए वक्त ही नहीं मिल पाया। लेकिन, अब अगले एक-दो साल में पर्सनल हॉबी के तौर पर इसे जारी रखूंगी।

अब किताब लिखने की बारी
गीतिका आगे भी एक्टिंग करने को लेकर उत्साहित हैं। वह कहती हैं, अभी तो मेरा फोकस इवेंट और एक्टिंग में बंटा हुआ है, लेकिन ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज के बाद एक्टिंग पर ज्यादा रहेगा। इवेंट्स पर तो फोकस जो अभी है, वैसा ही बना रहेगा। जिस चीज ने पहचान दिलाई, उसे क्यों कोई छोड़ेगा। अब मुझे एक्टिंग सबसे ज्यादा एक्साइट करती है। इवेंट से खुशी और सेटिस्फेक्शन मिलता है।’ गीतिका की ख्वाहिश किताब लिखने की है। बकौल गीतिका, मैं स्कूल में थी, तभी से चाहती थी कि मैं लिखूं। इस साल मैं अपनी किताब लिखना शुरू कर दूंगी। शुरुआत बच्चों की एक किताब से होगी। फिर एक फिक्शन लिखूंगी।

उदयपुर फेवरिट है मेरा
राजस्थान से गीतिका को एक खास लगाव है। बकौल गीतिका, जयपुर, जोधपुर और उदयपुर तो इवेंट के सिलसिले में आना-जाना लगा रहता है। यहां उदयपुर मेरा पसंदीदा है। यहां की लेक खूबसूरत हैं। एक अलग ही शांति है यहा। जबकि जयपुर एक्साइटिंग शहर है।

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News