आपराधिक छवि, राजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़ा, नुपूर को मारने आए पाकिस्तानी घुसपैठिए का एक-एक राज जानिए

0
83

आपराधिक छवि, राजा रणजीत सिंह की मूर्ति तोड़ा, नुपूर को मारने आए पाकिस्तानी घुसपैठिए का एक-एक राज जानिए

श्रीगंगानगर : भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर हाल ही में पकड़े गए पाकिस्तानी घुसपैठिये रिजवान (Pakistan youth Rizwan Arrest) को लेकर लगातार खुलासे सामने आ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, आरोपी रिजवान पेशेवर आपराधिक किस्म का शख्स रहा है। वो पहले भी आपराधिक घटनाओं को अंजाम देता रहा है, जिसमें उसकी गिरफ्तारी भी हुई है। पिछले साल अगस्त में आरोपी रिजवान ने रानी जिंदा की हवेली के बाहर लाहौर किले में रखी महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा को तोड़ दिया था। इसके लिए पुलिस ने उसे पकड़ा था।

लाहौर किले में रिजवान ने तोड़ी थी रणजीत सिंह की प्रतिमा
पाकिस्तान की एक वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार, सीमा पर पकड़े गए रिजवान ने जब महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा को तोड़ा था उस समय उसके साथ एक और शख्स भी था। उसने सुबह करीब साढ़े आठ बजे किले में प्रवेश किया और मूर्ति को नुकसान पहुंचाया। इस दौरान रिजवान प्रतिमा के चारों ओर छह फीट की बाड़ पर चढ़ गया और घोड़े पर मौजूद रणजीत सिंह की प्रतिमा को तोड़ दिया।

Nupur sharma controversy:लाहौर, पांच बसें, गूगल मैप… हिंदुमलकोट से नूपुर शर्मा को मारने घुसा रिजवान का प्लान कैसे हुआ डिकोड?
श्रीगंगानगर में हिंदूमल बॉर्डर से पकड़ा गया रिजवान
महाराजा रणजीत सिंह की ये प्रतिमा 2019 में रानी जिंदा (रंजीत सिंह की पत्नी) की हवेली के सामने स्थापित की गई थी। तभी से प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने के करीब तीन बार कोशिश की गई थी। जानकारी के अनुसार, यह प्रतिमा रणजीत सिंह की 180वीं पुण्यतिथि के अवसर पर स्थापित की गई थी। पाकिस्तानी नागरिक रिजवान को बीएसएफ ने 5 दिन पहले राजस्थान के श्रीगंगागर जिले में हिंदूमल सीमा से पकड़ा था।

navbharat times -नूपुर शर्मा की हत्या करने आए पाकिस्तानी के पास मिला 11 इंच लंबा चाकू और मैप,राजस्थान बॉर्डर पर गिरफ्तार
नूपुर शर्मा की हत्या के इरादे से आया था भारत
निलंबित बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा की हत्या के इरादे से आए रिजवान को भारत-पाक सीमा पर बीएसएफ ने काबू किया था। उसके कब्जे से दो चाकू और कुछ धार्मिक किताबें भी बरामद हुई थीं। सुरक्षा एजेंसियों की पूछताछ में खुलासा हुआ कि रिजवान नूपुर शर्मा की हत्या के इरादे से आया था, इस वारदात को अंजाम देने से पहले अजमेर शरीफ में चादर भी चढ़ाना चाह रहा था। फिलहाल सुरक्षा एजेंसिया और अधिक पूछताछ में जुटी हुई है।

‘तहरीर ऐ लब्बे’ की विचारधारा से रहा है प्रभावित
राजस्थान पुलिस के एडीजी इंटेलिजेंस एस सेंगथिर ने बताया कि यह रिजवान अशरफ उत्तरी पाकिस्तान के एक कट्टर और चरमपंथी संगठन ‘तहरीर ऐ लब्बे’ की विचारधारा से काफी प्रभावित है। हालांकि, वह इस संगठन का सक्रिय सदस्य है या नहीं, अभी इसका खुलासा नहीं हुआ लेकिन यह बात सामने आ रही है कि वह इस संगठन से काफी प्रभावित है।

Copy

navbharat times -पाक के नापाक इरादे फिर नाकाम, BSF ने पाकिस्तानी घुसपैठिये को हिंदुमलकोट बॉर्डर से पकड़ा, जांच शुरू
11 इंच के चाकू समेत रिजवान के पास से मिले थे ये सामान
रिजवान 16 जुलाई को रात करीब 11 बजे सीमा पार की। उसके पास से कई संदिग्ध सामान भी मिले हैं, जिसमें 11 इंच का धारदार चाकू भी शामिल है। खुफिया एजेंसी इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी), रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और मिलिट्री इंटेलिजेंस एजेंसी की एक संयुक्त टीम ने उससे पूछताछ की। श्रीगंगानगर के पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि 24 वर्षीय पाकिस्तानी नागरिक रिजवान अशरफ को सीमा पर गश्त कर रही बीएसएफ की एक टीम ने संदिग्ध परिस्थितियों में पकड़ा। बाद में पुलिस ने उसे स्थानीय अदालत में पेश किया, जहां से उसे पांच दिन के रिमांड पर भेज दिया गया।

आठवीं तक पढ़ा है रिजवान अशरफ
मिली जानकारी के अनुसार रिजवान अशरफ की शुरुआती पांच जमात तक की तालीम मदरसा में हुई है। इसके बाद वह स्कूल में आठवीं तक पढ़ा है। अविवाहित मोहम्मद रिजवान अशरफ के परिवार में माता-पिता के अलावा एक भाई है। बताया जा रहा है कि वह दिहाड़ी मजदूरी करता है। सूत्रों के मुताबिक रिजवान अशरफ का कहना है कि उसे पता नहीं था कि नूपूर शर्मा कहां रहती है, लेकिन वह किसी ना किसी तरह से नूपुर शर्मा तक पहुंच ही जाता।

राजस्थान की और समाचार देखने के लिए यहाँ क्लिक करे – Rajasthan News