अल्टीमेटम का आज आखिरी दिन, धरने पर बैठे पहलवानों ने अब दी आर-पार की धमकी

0
अल्टीमेटम का आज आखिरी दिन, धरने पर बैठे पहलवानों ने अब दी आर-पार की धमकी


अल्टीमेटम का आज आखिरी दिन, धरने पर बैठे पहलवानों ने अब दी आर-पार की धमकी

रोशन झा (नई दिल्ली): पिछले करीब एक महीने से रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवानों ने अब खुली धमकी दे दी है। एशियन गेम्स की गोल्ड मेडलिस्ट विनेश फोगाट ने कहा कि खाप पंचायत ऐसा फैसला ले सकती है, जो शायद देश के हित में न हो। दरअसल कुछ दिनों पहले यहीं जंतर-मंतर पर पहलवानों के समर्थन में विभिन्न खाप, महिला और किसान संगठनों ने महापंचायत कर सरकार को 21 मई तक का अल्टीमेटम दिया था। तब कहा गया था कि अगर सरकार इन पहलवानों की मांगों को नहीं मानती है, तो हम कोई बड़ा फैसला कर सकते हैं। रविवार को उस अल्टीमेटम का आखिरी दिन है और एक बार फिर यहां खाप संगठन और किसान संगठनों के नेता जमा होने वाले हैं।विनेश ने कहा, ‘हमारे खाप और किसान नेता रविवार को जो फैसला लेंगे, वह बड़ा हो सकता है। हो सकता है कि वह देश हित में न हो। हो सकता है कि इससे देश को नुकसान भी पहुंचे। अभी तक हमने बहुत कुछ सहा है। जो मसला एक मिनट में हल हो सकता था, उसमें एक महीना लग गया। किसान आंदोलन 13 महीने चला और निश्चित रूप से इससे देश को चोट पहुंची। इसलिए अगर एक और आंदोलन हुआ, तो निश्चित रूप से देश को नुकसान होगा।’ पहलवान धरनास्थल से अब मंदिर और गुरुद्वारे जा रहे हैं। बजरंग पूनिया ने कहा कि वह मंगलवार को इंडिया गेट पर कैंडल मार्च निकालेंगे। विनेश ने भी कहा कि हम इसे जारी रखेंगे और मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च हर जगह न्याय के लिए अपना संदेश लेकर जाएंगे।

आईपीएल का मैच देखने पहुंचे

इस बीच, पहलवान शनिवार को फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में आईपीएल मैच देखने पहुंचे। लेकिन, स्टेडियम में प्रवेश के समय पुलिस के साथ हुई कहासुनी के बाद वह अंदर नहीं जा पाए। साक्षी मलिक ने कहा कि हमारे पास पांच टिकट थे और हम पांच लोग ही थे। साक्षी ने कहा, ‘पुलिस हमें केबिन में बिठाकर मैच देखने के लिए कह रही थी, जबकि हमारा कहना था कि हमारे पास जो टिकट हैं, जहां हमारी सीट है, हम वहीं बैठकर देखना चाहते हैं। लेकिन पुलिस ने हमें नहीं जाने दिया और हमारा टिकट भी ले लिया।’

विनेश ने कहा कि पुलिस का कहना था कि हम आपको वीआईपी ट्रीटमेंट देंगे, जबकि हमने उनसे यही कहा कि हम साधारण इंसान हैं और साधारण इंसान की ही तरह मैच देखना चाहते हैं, लेकिन पुलिस ने हमसे टिकट ले लिया और हमें अंदर नहीं जाने दिया। हालांकि दिल्ली पुलिस ने पूरे मामले पर बयान जारी कर कहा कि जिसके पास भी वैध टिकट या पास था, उनमें से किसी को भी स्टेडियम में प्रवेश से नहीं रोका गया।

अगर हमने गुस्से में कोई कदम उठाया तो… जंतर मंतर पर पहलवानों ने बृजभूषण सिंह पर निकाली भड़ासNavbharat Times -हमें IPL मैच देखने से रोका गया… पहलवानों के आरोपों पर क्या बोली दिल्ली पुलिस



Source link